पंजाबी महासभा ने मनाया विभाजन की विभिषिका स्मृति दिवस

पंजाबी महासभा ने मनाया विभाजन की विभिषिका स्मृति दिवस

कार्यक्रम में विभिषिका का दंश झेलने वाले 75 बुजुर्गों का हुआ सम्मान

पदमश्री जितेंद्र सिंह शंटी ने बतौर मुख्य अतिथि कार्यक्रम में की शिरकत

ऋषिकेश-विभाजन की विभीषिका स्मृति दिवस पर उत्तरांचल पंजाबी महासभा की ऋषिकेश शाखा के तत्वावधान में गंगा तट त्रिवेणी घाट पर विभिन्न धार्मिक अनुष्ठान एवं विशेष गंगा आरती के जरिए लाखों मृत आत्माओं के लिए आत्मिक शांति के लिए प्रार्थना की गई।इससे पहले त्रिवेणी घाट स्थित एक होटल में आयोजित कार्यक्रम में विभिषिका का दंश झेलने वाले 75 बुजुर्गो को सम्मानित किया गया।

​​

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर पंजाबी महासभा ने विभाजन की विभिषिका स्मृति दिवस मनाया।कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करते हुए दिल्ली में कोरोनाकाल के दौरान हजारों लोगों का दाह संस्कार करने वाले पदमश्री जितेंद्र सिंह शंटी ने कहा कि आज पूरा देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है।लेकिन देश की आजादी के लिए लाखों लोगों ने अपने प्राणों की आहुति दी थी।प्रधानमंत्री के आह्वान पर मृतकों की आत्मिक शांति के लिए विभाजन की विभीषिका स्मृति दिवस पर देवभूमि के गंगा तट हुआ यह ऐतिहासिक कार्यक्रम निश्चित ही मील का पत्थर साबित होगा।कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि मंहत लोकेश दास ने अपने सम्बबोधन में विभाजन की विभीषिका पर विस्तृत प्रकाश डाला।इस दौरान सम्मान पाने वाले बुजुर्गों ने अपने स्मरण भी सुनाएं जिसने मोजूद उपस्थिती की आखें नम कर दी।पंजाबी महासभा के महामंत्री प्रदीप कोहली व धीरज चतरथ के संयुक्त संचालन में सम्पन्न हुए कार्यक्रम मेंकार्यक्रम संयोजक दीप शर्मा, सह संयोजक प्रतीक कालिया ,वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष व गढवाल मंडल प्रभारी सुभाष कोहली,प्रदेश पदाधिकारी हरीश नारंग, प्रदीप सचदेवा ,प्रमोद जोहर , नगर अध्यक्ष केवल किशन लांबा, गोपाल नारंग ,गुरविंदर सिंह , योगेश पहावा ,अजय कालड़ा,अमृतलाल कालड़ा,गगनदीप सिंह बेदी, अनीता बहल, गीता मनचंदा, सीमा शर्मा ,सुमन बहनल,रमेश अरोड़ा ,धीरज मखीजा, मदन मोहन शर्मा, मनमोहन सुदन, अविनाश भारद्वाज ,हरीश आनंद, पंकज चावला, प्रिंस मनचंदा, हरीश अरोड़ा ,भारत भूषण रावल, मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: