राम सुमरनी देवी पंचतत्व में विलीन,उनकी आखों से दो लोगों को मिलेगी नेत्र ज्योति

राम सुमरनी देवी पंचतत्व में विलीन,उनकी आखों से दो लोगों को मिलेगी नेत्र ज्योति

ऋषिकेश-श्रीमती राम सुमरनी देवी का पार्थिव शरीर आज मायाकुंड स्थित मुक्तिधाम में पंचतत्व विलीन हो गया, जिसे उनके पुत्र शैलेश अग्रवाल मुखाग्नि ने दी।

​ ​


श्रीमती राम सुमरनी देवी का सोमवार दोपहर निधन हो गया था। निवास पर शोक प्रकट करने पहुंचे नरेश अग्रवाल ने उनके पुत्र शैलेश अग्रवाल को नेत्र दान के लिए प्रेरित किया। जहां उपस्थित उनके पोत्र शलभ अग्रवाल ने भी पुष्टि की। परिजनों से स्वीकृति मिलने पर नरेश ने इसकी सूचना नेत्रदान कार्यकर्ता व लायंस क्लब ऋषिकेश देवभूमि के चार्टर अध्यक्ष गोपाल नारंग को दी नारंग की सूचना पर एम्स हॉस्पिटल की नेत्रदान की रेस्क्यू टीम उनके गंगा स्थल स्थित निवास स्थान पर पहुंची जहां डां श्रेया ने श्रीमती राम सुमरनी के पार्थिव शरीर से दोनों कार्निया सुरक्षित प्राप्त कर लिए, जिन्हें आवश्यक जांचो के बाद दो सूने नेत्रों में प्रत्यारोपित कर दिया जायेगा।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: