बूढ़ी बाईक पर विश्व की सबसे ऊंची सड़क पर पहुंचे योगेश शर्मा

बूढ़ी बाईक पर विश्व की सबसे ऊंची सड़क पर पहुंचे योगेश शर्मा

लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड से संपर्क साध ठोका वर्ल्ड रिकॉर्ड का दावा

अकेले बाईक पर एक पखवाड़े के भीतर 35 सौ किमी नापी दूरी

ऋषिकेश-होसले बुलंद हो और इरादे चट्टानी तो हर मंजिल सफलतापूर्वक पायी जा सकती है।


कहते है धर्म, आस्था और विश्वास का नाम है। जब यह आस्था और विश्वास मन में पैदा होता है तो दुनिया की सारी चुनौतियां भी हार जाती है। आस्था और विश्वास का ऐसा ही दुस्साहसी उदाहरण पेश किया है, तीर्थ नगरी के सामाजिक कार्यकर्ता योगेश शर्मा ने। इन्होंने अपनी वर्षों पूरानी बूढी बाईक में ही एक पखवाड़े के भीतर अमरनाथ बाबा के दर्शन करने ऋषिकेश से अमरनाथ तक सफर बाईक से ही तय कर लिया।26 जून को उन्होंने अपनी यात्रा प्रारम्भ की थी।अमरनाथ के दर्शन करने के लिए इन्होंने तकरीबन साढ़े तीन हजार किमी बाईक का सफर कर दुनियां की सबसे ऊंची और दुर्गम सड़क उर्मिगला को पार किया। 98 सीसी बाईक में विश्व की सबसे ऊंची सड़क पर पहुंचने का यह विश्व रिकॉर्ड हो सकता है जिसके लिए योगेश शर्मा ने लिम्का बुक आँफ वर्ल्ड रिकॉर्ड से सम्पर्क साधा है।ऋषिकेश के विख्यात क्रिकेटर रहे सामाजिक कार्यकर्ता योगेश शर्मा ने बताया इसी बाईक से वर्ष 2018 में उन्होंने विश्व की सबसे ऊंची सड़क उस समय की खारदुंगला लद्दाख का सफर तय किया था।इस बार वह ठानकर निकले थे कि विश्व की नई उंची सड़क जो ऐवरेस्ट बैस केम्प से भी ऊंची है ऊर्मिंगला को पार करेंगे। यह बाबा बर्फानी की ही कृपा थी कि उनकी यात्रा सफलतापूर्वक पूर्ण हो गई।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: