जापान को विकसित करने में वहां की शिक्षण प्रणाली का महत्वपूर्ण योगदान-डॉ सुनीता शर्मा

जापान को विकसित करने में वहां की शिक्षण प्रणाली का महत्वपूर्ण योगदान-डॉ सुनीता शर्मा

ऋषिकेश-निर्मल आश्रम ज्ञान दान अकादमी की प्रधानाचार्या डॉ सुनीता शर्मा एवं फुटहिल्स एकेडमी की प्रधानाचार्या श्रीमती अनीता रतूड़ी ने‌ शैक्षणिक अनुभव एवं शिक्षा अधिगम कार्यक्रम हेतु जापान का दौरा किया।
​ ​


निर्मल आश्रम महंत राम सिंह महाराज एवं संत जोध सिंह महाराज ने प्रधानाचार्यों को जापान से लोटने‌ पर हर्ष व्यक्त करते हुए आशीर्वाद देकर बधाई दी। कहा कि, इस दौरे के जरिए विधालय की शैक्षणिक पद्वति में निश्चित ही और बेहतर सुधार होगा।एन जी प्रधानाचार्य
डॉ सुनीता शर्मा ने बताया कि जापान को विकसित करने में वहां की शिक्षा प्रणाली का बहुत बड़ा योगदान है ।वहां की शिक्षा दर 100 प्रतिशत है और यही कारण है कि आज जापान एक विकासशील के साथ विकसित देश है।डॉ सुनीता शर्मा ने बताया कि उनका अनुशासन सत्यनिष्ठता एवं आत्मनिर्भरता जो बच्चों को प्रारंभिक शिक्षा के दौर में ही सिखा दिया जाता है हमें भी अपने विद्यालय में इन बिंदुओं पर विशेष ध्यान देना चाहिए जिससे कि विद्यार्थी पूर्ण रूप से अनुशासित एवं आत्मनिर्भर बन‌ सके ।इस अवसर पर एनजीए हेडमिस्ट्रेस श्रीमती अमृतपाल डंग, प्रशासनिक अधिकारी विनोद बिज्लवाण, समन्वयक सोहन सिंह कैंतूरा, परीक्षा प्रभारी सरबजीत कौर, खेल शिक्षक दिनेश पैन्यूली एवं पूनम चौहान, जितेंद्र कुमार, मोनिका कपूर, अनिता ग्वाडीं, ममता पवार, सुनीता नेगी, ज्योति वर्मा, सारिका अरोड़ा, मंजू सकलानी, योगिता राजपूत, सुनीता आहूजा, विजेता, रत्ना नेगी, ज्योति पंवार उपस्थित थे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: