अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर योगमय हुई धर्मनगरी

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर योगमय हुई धर्मनगरी

ऋषिकेश-अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर तीर्थ नगरी योग कार्यक्रमों से सराबोर रही।शहर में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में योग की छटा के विभिन्न रंग देखने को मिले।

​ ​


योग दिवस का प्रमुख केन्द्र गंगा पार परमार्थ निकेतन रहा यहां उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने समपत्निक योगासन लगाकर वसुदेव कुटुम्बकम का संदेश दिया।उधर नगर निगम महापौर अनिता ममगाई ने गंगा तट त्रिवेणी घाट पर त्रिवेणी शाखा में राष्ट्रीय स्वयं सेवकों,योगाचार्यों बहनों एवं योग साधकों के साथ योगासन लगाये।मंगलवार को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आज उत्तराखंड के आयुष विभाग द्वारा परमार्थ निकेतन ऋषिकेश में गंगा के तट पर आयोजित कार्यक्रम मेें बतोर मुुुख्य अतिथि शिरकत करते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि प्रधानमंत्री मंत्री नरेंद्र मोदी ने योग के जरिए समूची दुनिया को एक सूत्र में पिरोने का काम किया है।भारत ऐसा देश है जो पूरे विश्व को अपना परिवार मानता है।वैश्विक महामारी कोरोनाकाल के दौरान विभिन्न देशों में वैक्सीन भेजकर लाखो जिंदगियों को बचाने का का काम किया गया। उन्होंने कहा कि योग की धरती उत्तराखंड है और ऋषिकेश योग नगरी है । योग प्राचीन ऋषि-मुनियों की देन है। इस कला के माध्यम से ऋषि मुनि दीर्घायु जीवन जीते थे और स्वस्थ रहते थे उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने इस बार योग की थीम मानवता के लिए योग दी है जो संपूर्ण मानवता की रक्षा के लिए है। इस अवसर पर परमार्थ निकेतन के अध्यक्ष चिदानन्द मुनि ,साध्वी भगवती,कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल, प्रेमचंद्र अग्रवाल, विधायक रेनू बिष्ट,नगर निगम महापौर अनिता ममगाई,उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ,उत्तराखंड के लोक गायक कलाकार प्रीतम भरतवाण ,बसंती बिष्ट उत्तराखंड आयुर्वेदिक विश्वविद्यालय के कुलपति डॉक्टर सुनील जोशी ,आयुष विभाग के सचिव डॉ पंकज पांडे ,आयुष विभाग के निदेशक त्रिपाठी समेत सैकड़ों योग साधक मोजूद रहे।उधर अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आज उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूडी भूषण ने विधान सभा भवन, देहरादून में विधानसभा के अधिकारियों एवं कर्मचारीयों के संग योगाभ्यास किया। इस वर्ष “मानवता के लिए योग’’ थीम को अपनाते हुए विधानसभा अध्यक्ष ने विभिन्न आसनों के साथ योगाभ्यास किया।इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि योग से मन के भीतर नकारात्मक शक्तियों के स्थान पर सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। शरीर, मन एवं आत्मा में संतुलन स्थापित होता है, जिससे मनुष्य एकनिष्ठ, एकाग्र एवं स्थिर होता है। उन्होंने आम जनता से अपील की कि सभी लोग योग को अपने दिनचर्या का अंग बनाए और तनावमुक्त, स्वस्थ होकर राष्ट्र निर्माण में योगदान दें। ऋतु खंडूड़ी ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी से जब पूरी दुनिया परेशान थी तब फिर योग ने पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचा। योग के प्रयोग एवं संतुलित जीवन शैली से ही हम शरीर को स्वस्थ रख सकते हैं। उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण मानवता को भारतीय संस्कृति के इस अनमोल उपहार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने प्रयासों से वैश्विक स्वीकृति प्रदान करवाई है। इस अवसर पर योगाचार्य नीरज डोभाल, योगाचार्य नीलम रावत, योगाचार्य सविता उपाध्याय, विधानसभा के सचिव मुकेश सिंघल, संयुक्त सचिव चंद्र मोहन गोस्वामी, उप सचिव नरेंद्र रावत, उपसचिव हेम पंत, वरिष्ठ व्यवस्था अधिकारी दीपचंद, प्रमुख निजी सचिव अजय अग्रवाल, मुख्य प्रतिवेदक हेम गुरुरानी सहित अन्य कार्मिक मौजूद रहे।केंद्रीय विद्यालय रायवाला में आठवां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पूरे उत्साह और जोशो खरोश के साथ मनाया गया। इस अवसर पर विद्यालय के लगभग 1000 छात्रों ने तथा विद्यालय के सभी अध्यापकों एवं प्राचार्य द्वारा सामूहिक रुप से योगाभ्यास किया गया। विद्यालय में योगाभ्यास दीपाली और उपासना पोंडियाल, हरिपुरकलां के कुशल मार्गदर्शन में किया गया। इस अवसर पर प्राचार्या महोदया अनिता बिष्ट द्वारा छात्रों को योगाभ्यास के महत्व के बारे में भी बताया गया तथा सभी के द्वारा अपने दैनिक जीवन में योग को नियमित रुप से करने का प्रण भी लिया गया। प्राचार्या द्वारा बताया गया कि किस प्रकार हम नियमित रुप से योगाभ्यास करके हम हमेशा स्वस्थ एवं खुशहाल रह सकते हैं। अन्तराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर ऋषिकेश रेड राईडर्स क्लब के सदस्यों ने कोच नीरज शर्मा के नेतृत्व में बैराज – चीला नहर के किनारे बीन नदी के समीप 30 किलोमीटर साइकिल राइड के पश्चात योगासन किया ।रेड राईडर्स साइकिल क्लब के संरक्षक जयेन्द्र रमोला ने बताया कि हमें निरंतर व्यायाम अवश्य करना चाहिए। योग करने से शरीर में थकावट की बजाय ताजगी के साथ स्फूर्ति आती है। तमाम तरह के रोगों से इसके जरिए बचाव संभव होता है।योगाचार्य संजय नौटियाल व नीरज शर्मा ने कहा कि आज की व्यस्त ज़िंदगी में हमें शरीर पर अवश्य ध्यान देना चाहिए। योगासन में रेड राईडर्स साइकिल क्लब के सदस्य सरदार बूटा सिंह, डा० नीति, अपूर्व त्रिवेदी, अवनीश शाह, विक्रम शेरगे, सुधीर आनन्द, जयवर्धन रमोला, आदित्यवर्धन रमोला आदि मौजूद थे । विश्व योग दिवस पर सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज आवास विकास के विवेकानंद योग सभागार में आज योगाचार्य कुमारमंगलम ने सभी आचार्य एवं विद्यार्थियों को योग कराया।कार्यक्रम का शुभारंभ योगाचार्य कुमार मंगलम सेमवाल व विद्यालय के प्रधानाचार्य राजेंद्र प्रसाद पांडे ने मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित कर किया।
इसके पश्चात योग आचार्य कुमार मंगलम ने सभी आचार्यों व विद्यार्थीयो को योग कराया।प्रधानाचार्य ने बताया कि शरीर को स्वस्थ रखने के लिए योग अवश्य करना चाहिए । इस अवसर पर करणपाल बिष्ट,मनोज पंत, नंद किशोर भट्ट, नागेन्द्र पोखरियाल,रीना गुप्ता, मीनाक्षी उनियाल ,रामगोपाल रतूड़ी, कांता प्रसाद देवरानी आदि मौजूद रहे।हरिचन्द गुप्ता आर्दश कन्या इंटर कालेज में भी अंतरराष्ट्रीय योग दिवस बेहद हर्षोल्लास के साथ मनाया गया।इस अवसर पर विधालय की छात्राओं ने करीब एक घंटे तक विभिन्न आसनों के माध्यम से योग कलाओं का प्रदर्शन किया।इससे पूर्व ,प्रधानाध्यापिका पूनम शर्मा ने योग के महत्व पर विस्तृत प्रकाश डाला। श्री भरत मंदिर इंटर कॉलेज ऋषिकेश में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस धूमधाम से मनाया गया । इस अवसर पर प्रधानाचार्य मेजर गोविंद सिंह रावत ने राष्ट्रीय सेवा योजना और राष्ट्रीय कैडेट कोर दोनों इकाइयों के छात्र छात्राओं के साथ मिलकर योगाभ्यास किया। कहा कि, योग ही एकमात्र ऐसा विकल्प है जो मानव शरीर की सभी बीमारियों को बिना दवाइयों के समाप्त कर सकता है। इसलिए हमें रोज नियम से प्रातःकाल योगासनों का अभ्यास करना चाहिए। इस अवसर पर राष्ट्रीय सेवा योजना अधिकारी जयकृत सिंह रावत ने कहा कि स्वयंसेवियों को निर्देशित किया गया है कि वह योग के फायदे अधिक से अधिक समाज तक पहुंचाएं और समाज को योगासनों के बारे में बताएं । योग के प्रति लोगों की जागरूकता बढ़ाएं । इस अवसर पर उपप्रधानाचार्य यमुना प्रसाद त्रिपाठी ने कहा कि आज संपूर्ण विश्व योग के तरफ ध्यान दे रहा है इससे पता लगता है कि योग मानव जीवन के लिए कितना महत्वपूर्ण है । योग हमारे ऋषि-मुनियों की धरोहर है जिसको हमें संभाल कर भी रखना है।इस अवसर पर उपप्रधानाचार्य यमुना प्रसाद त्रिपाठी,रेड क्रॉस प्रभारी रंजन अंथवाल, खेल कोच प्रवीण रावत, प्रशासनिक अधिकारी सुमित्रा मेहर, मोहन सिंह राणा, किशोर कुमार,मोहन,सोहन आदि उपस्थित थे।आठवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर भारतीय जनता पार्टी के ऋषिकेश मंडल व केंद्रीय विद्यालय आईडीपीएल की ओर से कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस मौके पर कैबिनेट मंत्री व क्षेत्रीय विधायक प्रेमचंद अग्रवाल ने योग साधकों के साथ योगाभ्यास किया। मंगलवार को त्रिवेणी घाट में आयोजित योग महोत्सव में कैबिनेट मंत्री डा. प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि योग भारतीय सभ्यता, संस्कृति तथा जीवन शैली का अभिन्न अंग रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के सार्थक प्रयासों से योग को अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता मिलना देशवासियों के लिए गर्व की बात है। योग भारत की प्राचीनतम और समृद्ध परम्परा की एक पहचान है। पूरी मनुष्यता को हमारे ऋषि-मुनियों की यह महत्वपूर्ण देन है। योग साधना के द्वारा हम शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ रह सकते हैं। योग के द्वारा आज दुनिया में हमारी विशिष्ट पहचान बनी है। यह आत्मा को परमात्मा से मिलाने का सेतु भी है। योग जोड़ने का कार्य करता है। इसी का प्रतिफल है कि आज दुनिया योग को अपना रही है तथा योग के लिये दुनिया भारत की ओर देख रही है। योग ने देश व दुनिया को स्वस्थता का भी संदेश दिया है। हमारे योगाचार्यों ने भी योग को जन-जन तक पहुंचाने का कार्य किया है।
इस मौके पर हस्त मुद्रा, ज्ञानमुद्रा, वायु मुद्रा, आकाश मुद्रा, शून्य मुद्रा, प्राणायाम आदि योग क्रियाएं की गई। इस मौके पर पर्यावरण को संरक्षित करने का भी संकल्प लिया गया। मौके पर डॉ अग्रवाल ने योग को अपनी दैनिक दिनचर्या में अपनाने का आवाहन किया।
इस अवसर पर राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल, उप जिलाधिकारी ऋषिकेश शैलेन्द्र सिंह नेगी, वन क्षेत्राधिकारी ललित नेगी, एसडीओ सिंचाई विभाग अनुभव नौटियाल, अधिशासी अभियंता सीवर विंग हरीश बंसल, मंडल अध्यक्ष दिनेश सती, मंडल अध्यक्ष महिला मोर्चा उषा जोशी, पूर्व दर्जाधारी सन्दीप गुप्ता, संजय शास्त्री, कपिल गुप्ता, जयंत किशोर शर्मा, संजय व्यास, प्रदीप कोहली, राम कृपाल गौतम, पूर्व प्रधानाचार्य आईडी जोशी, प्रधानाचार्य धीरेंद्र जोशी, प्रधानाचार्य केंद्रीय विद्यालय सुधा गुप्ता, राजपाल ठाकुर, दीपक बिष्ट, माधवी गुप्ता, विनोद भट्ट, पर्यावरण विद विनोद जुगरान, राकेश चंद, सीमा रानी सहित स्कूली बच्चें आदि सैकड़ो योग अभ्यर्थी मौजूद रहे।ऋषिकेश पंडित ललित मोहन शर्मा श्री देव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय परिसर ऋषिकेश मैं नमामि गंगे प्रकोष्ठ एवं राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई एवं राष्ट्रीय स्वच्छता गंगा मिशन जल शक्ति मंत्रालय भारत सरकार के संयुक्त तत्वाधान से विश्व योग दिवस पर गंगा किनारे त्रिवेणी घाट पर सामान्य योग प्रशिक्षण एवं स्वच्छता विषय पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें छात्रों द्वारा चार धाम यात्रा में आए तीर्थ यात्रियों को योग के द्वारा स्वास्थ्य रहने का संदेश दिया I कार्यक्रम में श्री देव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. पी. पी. ध्यानी ने अपने संदेश में कहा योग न सिर्फ शारीरिक स्वास्थ्य के लिए बल्कि मानसिक सेहत के लिए भी अच्छा होता है।
परिसर के प्राचार्य प्रो गुलशन कुमार ढींगरा ने कहा योग के महत्व को बताने के लिए और लोगों में इसके प्रति जागरूकता फैलाने के लिए हर साल अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है।योग हमें ‘एकता में बांधने का संदेश देता है। नमामि गंगे प्रकोष्ठ के नोडल अधिकारी एवं राष्ट्रीय सेवा योजना के वरिष्ठ कार्यक्रम अधिकारी डॉ अशोक कुमार मेंदोला ने अपने संबोधन में कहा इस इस वर्ष 2022 में मनाए जाने वाले अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की थीम “योग फॉर ह्यूमैनिटी” है। “मानवता के लिए योग”।योग हमारी संस्कृति और जड़ों से जुड़ा हुआ है, इसलिए स्वस्थ और खुशहाल बनने के लिए योग काफी असरदार होता है I इस अवसर अमित रतूड़ी, निजाम , आमना पांडे , रोहित सोनी ,सागर ,अनीश पुनिया, मनीषा, उमा ,गौरी, जूली,मोनिका, जानवी मिश्रा, , प्रीति , स्वाति , श्वेता ,साक्षी तिवारी, रोहित कुकरेती, पवन , गुंजन,निशा,प्रियंका,हंसराय,अंकिता,वर्षा,प्राची, निशा,अंजली बिष्ट,शिक्षा रणाकोटी ,तुषार कुमार,प्रीति , फूलमती, चंदा, सहायोगिता,अंजली बडोनी उपस्थित रहे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: