अग्निपथ योजना देश के युवाओं के साथ बड़ा मजाक!

अग्निपथ योजना देश के युवाओं के साथ बड़ा मजाक!

ऋषिकेश-सेना में युवाओं की अनुबंध आधारित भर्ती को लेकर केंद्र सरकार की ओर से लांच की गई ‘अग्निपथ योजना’ का विरोध होना शुरू हो गया है।

​ ​


अंतरराष्ट्रीय गढ़वाल महासभा ने इस योजना की खिलाफत करने के लिए केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। महासभा के अध्यक्ष डॉ राजे सिंह नेगी ने सेना में संविदा आधार पर भर्ती का विरोध जताते हुए कहा है कि ‘अग्निपथ योजना’ देश के नौजवानों के साथ मजाक है, क्योंकि जिस जज्बे के साथ नौजवान सेना में भर्ती होता था, उसका ही केंद्र की मोदी सरकार ने मजाक बना दिया। उन्होंने कहा कि आप नौजवान को अग्नीपथ योजना के तहत सेना में लेंगे, 6 महीने की हथियार चलाने की ट्रेनिंग देंगे और 4 साल बाद निकाल देंगे, तो फिर बाहर आकर गैंगवार की घटनाएं बढ़ेंगी।उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार अग्नीपथ योजना वापस ले और पूर्व की तरह सेना में जवानों की भर्ती की जाए।अग्निपथ योजना’ को लेकर श्रीगुरुकुल आई एस.कोचिंग संस्थान के संस्थापक हिमित कक्कड़ ने कहा कि अग्निपथ योजना से युवाओं का सेना में जानेका रुझान बढ़ेगा, वहीं ये आशंका भी जताई कि जब तक युवा सैनिक अनुभव लेगा, तब तक वह आर्मी से आउट हो चुका होगा।उन्होंने कहा कि सेना देश की आत्मा है। सरकार को सेना में स्थायी नौकरी पर ही विचार करना चाहिए।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: