पेड़ों पर चली आरियोंं से तीर्थ नगरी में रिकॉर्डतोड़ गर्मी!

पेड़ों पर चली आरियोंं से तीर्थ नगरी में रिकॉर्डतोड़ गर्मी!

उमस भरी गर्मी, सूरज के तेवरों से धधक रही हवा

लू के थपेड़ों से बचने के लिए तरह तरह की जुगत लगा रहे लोग

ऋषिकेश-तीर्थ नगरी में गर्मी के थपेड़ों ने लोगों को बुरी तरह से हलकान कर रख है।इस वर्ष उमस भरी गर्मी रिकॉर्ड तोड़ रही है।इसकी वजह जानकर पेड़ों पर चली आरियोंं को बता रहे हैं।

​ ​


हरिद्वार रोड़ पर ही दर्जनों पीपल एवं अन्य पेड़ों को विकास के नाम पर काटा गया है।इसका प्रभाव भी दिखाई देने लगा है।पिछले दो दशक के मुकाबले गर्मी की सर्वाधिक मार इस मर्तबा लोगों को झेलनी पड़ रही है।इन सबके बीच धूप व लू के थपेड़ों का प्रकोप पिछले चार-पांच दिन से जारी है जो सोमवार को भी देखने को मिला।सूरज ने सुबह से ही तेवर दिखाना शुरू कर दिया। मद्धम गति की हवा के चलते वातावरण में उमस छाना सुबह से ही शुरू हो गया। इससे ना सिर्फ स्थानीय बल्कि चारधाम यात्रा पर आये यात्री और सेर सपाटे के लिए पहुंचे पर्यटक सभी परेशान रहे। धूप की तल्खी और लू के थपेड़ों ने जनजीवन को बुरी तरह से बेहाल कर दिया है।देवभूमि में तापमान लगातार 40 से ऊपर पहुंच रहा है। जून माह के आगाज के बाद से हर गुजरता दिन लोगों को सबसे गर्म दिन का अहसास करा रहा है।यहां तेज धूप और लू के थपेड़ों से जनजीवन झुलस रखा है।सोमवार को भीष्ण गर्मी से बचाव के लिए लोग छाता, तौलिया, साड़ी का पल्लू व रूमाल आदि के जरिए बचाव करने का प्रयास करते दिखे ।गर्मी में उल्टी, दस्त, बेचैनी, बुखार, पेट व सिर दर्द के रोगियों की संख्या में भी लगातार इजाफा हो रहा है।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: