गंदगी से अटता जा रहा है यात्रा बस अड्डा क्षेत्र

​शौचालयों की कमी से जूझ रहें तीर्थाटन पर आये श्रद्वालु

मोबाइल टायलेट की व्यवस्था ना होने से समस्या गहराई

गंदगी से अटता जा रहा है यात्रा बस अड्डा क्षेत्र

ऋषिकेश- खुले में शौच मुक्त भारत के टूटते सपने की बदरंग तस्वीर देखनी हो तो एक बार सुबह सवेरे यात्रा बस अड्डे से सटे चन्द्रभागा नदी की तरफ नजर दौड़ा लीजिए विश्व प्रसिद्ध चारधाम यात्रा को लेकर सरकारी दावों की पोल खुलती आपको नजर आ जायेगी।

​ ​


श्रद्वालुओं के उमड़ते जनसैलाब के चलते यात्रा के मुख्य द्वार ऋषिकेश में यात्रियों के लिए शौचालय की कमी सबसे बड़ी समस्या के रूप में उभर कर सामने आयी है।इसकी वजह से पौं फटने से पूर्व यात्रा बस अड्डे से सटे क्षेत्रों सहित शहर के विभिन्न स्थानों पर डेरा डाले यात्रियों को मजबूरन खुले में शौच के लिए विवश होना पड़ रहा है।इससे शहर में महामारी का खतरा भी मंडराने लगा है।उफान पर चल रही चारधाम यात्रा में तमाम सरकारी इंतजामों की पोल खुलनी शुरू हो गई है।गढवाल महासभा के अध्यक्ष डा राजे सिंह नेगी का कहना है कि मौलिक सुविधाओं के लिए किस हद तक श्रद्वालुओं को जूझना पड़ रहा है कि ठहरने की उचित व्यवस्था ना होने की वजह से हजारों श्रद्वालु जहां खुले आसमान के नीचे सोने को विवश हैं वहीं मोबाइल शौचालय तक का इंतजाम ना होने की वजह से उन्हें परेशान होना पड़ रहा है।खुले में शौच मुक्त भारत के टूटते सपने की बदरंग तस्वीर सुबह सवेरे यात्रा बस अड्डे से सटे चन्द्रभागा नदी पर देखी जा सकती है।उन्होंने कहा कि यात्रा के प्रराम्भ होने के बाद यात्रा के मुख्य द्वार ऋषिकेश मे गंदगी का अम्बार लगना शुरू हो गया है। हजारों की संख्या में श्रद्धालु रोज यहां आ रहे हैं, लेकिन यात्रियों के लिए शौचालय की समुचित व्यवस्था ना होने से उन्हें काफी दिक्कतों से जूझना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि यदि प्रशासन द्वारा सही तरह से अपना होमवर्क किया गया होता तो हालात इस कदर बदतर ना होते।उन्होंने प्रशासन से अविलंब शहर के विभिन्न क्षेत्रों में मोबाइल शौचालय की व्यवस्था कराने की मांग भी की है।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: