भागवत पुराण सुनने से होता है मानव जीवन में संस्कारों का उदय- ऋतु खंडूडी भूषण

भागवत पुराण सुनने से होता है मानव जीवन में संस्कारों का उदय- ऋतु खंडूडी भूषण

ऋषिकेश-उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूडी भूषण ने आज गुलरझाला स्थित शिव मंदिर में आयोजित भागवत पुराण कथा के समापन दिन पर भंडारे में प्रसाद ग्रहण किया। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने भागवत पुराण कथा के दौरान व्यास गद्दी से आशीर्वाद प्राप्त किया एवं सिदबली मन्दिर में विधिवत पूजा अर्चना कर प्रदेश वासियों के सुख-समृद्धि की कामना की।

​ ​


इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि श्रीमद् भागवत कथा मनुष्य को सदमार्ग की ओर अग्रसर करती है । उन्होंने कहा है कि संसार में मनुष्य अपने जीविकोपार्जन के लिए तरह तरह के काम करते हैं परंतु हर कार्य के पीछे प्रभु का स्मरण, धार्मिक भावनाओं का जागरण यह अत्यंत आवश्यक है। श्रीमद् भागवत कथा सुनने का लाभ तभी है जब हम इसे अपने जीवन में उतारें और उसी के अनुरूप व्यवहार करें।जीवन में कितनी भी विकट परिस्थिति क्यों न आ जाए मुनष्य को अपना धर्म व संस्कार नहीं छोड़ना चाहिए। ऐसे ही मनुष्य जीवन के रहस्य को समझ सकते हैं। उन्होंने कहा की भंडारा आपसी समरसता बढ़ाने का सबसे सरल तरीका है।इस अवसर पर श्री सिद्धबली मंदिर समिति के अध्यक्ष राकेश बिष्ट, उपाध्यक्ष मोहनलाल केस्टवाल, दिनेश कोटनाला, मणिराम केस्टवाल, दाताराम केस्टवाल, संजय चमोली, कथावाचक श्री कृष्ण जखमोला, सहित कई आचार्य, संगीत के आचार्य एवं कीर्तन मंडली उपस्थित थे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: