स्वस्थ जीवन के लिए तम्बाकू से दूर रहना बेहद आवश्यक

स्वस्थ जीवन के लिए तम्बाकू से दूर रहना बेहद आवश्यक

ऋषिकेश- विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर नशा मुक्ति अभियान के तहत विभिन्न शैक्षणिक संस्थाओं से जुड़े लोगों सहित समाजसेवी संगठनों से जुड़े लोगों ने लोगों से तंबाकू को छोड़ने की अपील की।



मंगलवार को विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर ऋषिकेश इंटरनेशनल स्कूल के सचिव कैप्टन सुंमत डंग ने कहा कि नशे की लत से सभी को दूर रहना चाहिये। नशा हमारे शरीर के लिये नुकसान पहुंचाता है।उन्होंने कहा कि पुरुषों के साथ साथ महिलाओं के लिए धूमपान और अधिक घातक है।अंकुर पब्लिक स्कूल के निदेशक वैभव सकलानी का कहना है कि कुछ लोग समझते हैं कि धूमपान करने से मन और दिमाग को शांति मिलती है। वास्तव में यह धारणा बिल्कुल गलत है। धूमपान दिमाग को कुंठित कर देता है। इसलिए आज के दौर में हम सभी को इस बुरी लत को छोड़कर अपनी जिंदगी को खुशहाल बनाने का संकल्प लेना होगा।मैत्री संस्था की अध्यक्ष कुसुम जोशी ने कहा कि तंबाकू व उससे निर्मित उत्पादों के इस्तेमाल से मानव व पर्यावरण को खतरा है। यही कारण है कि इसके सेवन पर हर जगह रोक लगाई जा रही है। भारत में भी युवाओं इसके सेवन का बढ़ता शौक चिंता का विषय है। वहीं सिगरेट आदि से निकलने वाला धुआं उन लोगों को अधिक नुकसान पहुंचाता है जो धूमपान नहीं करते। तंबाकू, गुटखा के सेवन व धूमपान से मुंह का कैंसर, टीबी, हृदय रोग आदि हो सकते हैं।स्वस्थ जीवन जीने के लिए नशे से दूर रहना आवश्यक है।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: