कोषागार कर्मचारियों ने वित्त मंत्री से की मुलाकात

कोषागार कर्मचारियों ने वित्त मंत्री से की मुलाकात

ऋषिकेश- वित्त मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल से उत्तराखंड कोषागार कर्मचारी संगठन के प्रदेश अध्यक्ष हिमांशु जोशी के नेतृत्व में कोषागार कर्मचारियों ने मुलाकात की।


बुधवार को बैराज रोड स्थित कैंप कार्यालय में कोषागार कार्मिकों ने समस्याओं से संबंधित ज्ञापन कैबिनेट मंत्री को सौंपा। ज्ञापन में राजकीय लेखा संवर्ग (अराजपत्रित) नियमावली 2019 से कोषागार को पृथक किए जाने की मांग की गई। कहा कि पूर्व से ही कोषागार एक अलग संवर्ग रहा है। कोषागार की विशिष्ट कार्य शैली के कारण ही कोषागार अन्य विभागों से अलग है, अन्य सवर्गों से अलग है। उत्तराखंड शासन द्वारा 12 जून 2019 को प्रख्यापित राजकीय लेखा संवर्ग नियमावली 2019 में कोषागार को शामिल किया जाना न्यायोचित एवं तर्कसंगत नहीं है। बताया कि, कोषागार एवं लेखा संवर्ग दोनों भिन्न-भिन्न प्रवृत्ति के हैं, जिस कारण से लेखा संवर्ग के साथ कोषागार को मिलाया जाना कहीं भी उचित नहीं है। शासन द्वारा राजकीय सेवा नियमावली को कोषागार के ऊपर थोपे जाने के कारण 4600 ग्रेड पे प्राप्त कर रहे सहायक लेखाकारों की लेखाकार के पद पर पदोन्नति होने पर 4200 ग्रेड पे किया जा रहा है, यह पदोन्नति नहीं पदानवत की प्रक्रिया हो रही है जो कि कहीं से भी उचित प्रतीत नहीं होती है।इस अवसर पर वित्त मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि कोषागार वित्त विभाग का एक महत्वपूर्ण अंग है, कोषागार कार्मिकों के साथ किसी भी प्रकार का अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने कोषागार कार्मिकों को आश्वासन दिया कि राजकीय लेखा संवर्ग नियमावली 2019 से कोषागार को पृथक करने के संबंध में सचिव वित्त तथा निदेशक, कोषागार, पेंशन एवं हकदारी, देहरादून को निर्देशित किया जाएगा। इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष हिमांशु जोशी ने तुलसी का पौधा भेंटकर वित्त मंत्री का अभिनंदन किया। इस अवसर पर कोषागार कर्मचारी संगठन के प्रदेश अध्यक्ष हिमांशु जोशी, प्रदेश उपाध्यक्ष कृष्ण प्रसाद थपलियाल, नैनीताल जिले के जिला अध्यक्ष भगवंत सिंह बोरा, देहरादून जिले के जिला अध्यक्ष संदीप जोशी, हिमांशु जैन, राकेश छिमवाल, जिला मंत्री पंकज हटवाल, प्रशांत शर्मा, मनोज कुमार सहित अन्य कोषागार कार्मिक उपस्थित रहे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: