अव्यवस्थाओं के बोलबाले के बीच कैसे होगी यात्रा सुखद-डॉ राजे सिंह नेगी

अव्यवस्थाओं के बोलबाले के बीच कैसे होगी यात्रा सुखद-डॉ राजे सिंह नेगी

ऋषिकेश-दो वर्ष की कोराना मार झेलने के बाद विश्व प्रसिद्ध चारधाम यात्रा का श्रीगणेश हो गया है।लेकिन यात्रा प्रारंभ होने के बावजूद चारधाम यात्रा के प्रवेशद्वार तीर्थनगरी में अव्यवस्थाएं हावी हैं।विभिन्न अव्यवस्थाओं पर अंतरराष्ट्रीय गढ़वाल महासभा ने प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराते हुए जल्द से जल्द व्यवसथाओ में सुधार की मांग की है।


महासभा के अध्यक्ष डॉ राजे सिंह नेगी ने बताया कि ऋषिकेश के मुख्य मार्गों पर अस्थायी अतिक्रमण, अनधिकृत पार्किंग परेशानी का सबब बनी हुई हैं। जाम के झाम से लोगों को आवाजाही में परेशानी होती है। पुलिस प्रशासन की फौरी कार्रवाई भी बेअसर है। ऐसे में चारधाम यात्रा के दौरान आने वाले तीर्थयात्रियों का स्वागत बदइंतजामी से हो रहा है जोकि बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।उन्होंने कहा कि आज केदारनाथ धाम के कपाट खुल गये हैं लेकिन चारधाम यात्रा के प्रवेशद्वार में अव्यवस्थाएं सिर उठाए खड़ी हैं। रेलवे रोड, हरिद्वार मार्ग, देहरादून रोड, त्रिवेणीघाट रोड, मुखर्जी मार्ग पर अस्थायी अतिक्रमण पसरा है।दुकानों के बाहर सामान सजाकर सड़क को घेरा हुआ है। रही सही कसर नो-पार्किंग जोन में खड़े आड़े तिरछे वाहन पूरी कर रहे हैं। नतीजतन तमाम मार्गो पर अक्सर जाम लगा रहता है, जिससे लोगों को आवाजाही में दिक्कत होती है।उन्होंने बताया कि पुलिस प्रशासन ने शहर के हरिद्वार-लक्ष्मणझूला मुख्य मार्ग पर जयराम आश्रम तिराहा से चंद्रभागा पुल तक, जहां सबसे अधिक जाम लगता है। इस हिस्से को जीरो जोन घोषित किया है। यानी कि जीरो जोन में सवारी वाहन न तो सवारी बिठाएंगे और न ही सवारी उतारेंगे।मगर, इसका अनुपालन नहीं हो रहा। ऑटो और विक्रम चालक जहां तहां वाहन रोककर सवारियां बिठा रहे हैं, जिससे जाम लग रहा है। यातायात व्यवस्था को सुधारने वाले आंखें फेर तमाशबीन बने हैं।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: