ग्रामीण क्षेत्र में केन्द्र की सीवेज योजना जल्द होगी साकार

ग्रामीण क्षेत्र में केन्द्र की सीवेज योजना जल्द होगी साकार

ऋषिकेश-केन्द्र सरकार की महत्वपूर्ण नमामि गंगे योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्र ऋषिकेश के खदरी खड़क माफ एवं लक्कड़ घाट में सीवरेज सिस्टम की शुरुआत से पूर्व विकास कार्यों के लिए जर्मनी के विश्व प्रसिद्ध वित्तपोषण करने वाले वित्तीय बैंक के एफ डब्लू के सहयोग से ऋषिकेश में सीवरेज कार्यदायी संस्था जीकेडब्लू के अधिकारियों के एक निरीक्षण दल ने जर्मनी से ऋषिकेश पहुंच कर ग्रामीण क्षेत्र में सीवरेज सिस्टम के क्रियान्वयन से पूर्व पैदल क्षेत्र भ्रमण कर भौतिक निरीक्षण किया।


दल का नेतृत्व कर रहे संस्था के परियोजना निदेशक केन कोसिबा ने नमामि गंगे जिला क्रियान्वयन समिति के सदस्य पर्यावरणविद विनोद जुगलान एवं पेयजल संस्थान के स्थानीय अधिकारियों से वार्ता कर योजना के क्रियान्वयन से पूर्व सभी पहलुओं पर अध्ययन किया।जर्मनी दल में शामिल परियोजना अधिकारी क्रिस्चियन क्लिन ने बताया कि योजना के प्रारम्भ से पूर्व भौतिक निरीक्षण का उद्देश्य कार्य योजना को विश्वसनीय और गुणवत्ता परक बनाना है।गौरतलब है कि फरवरी माह में योजना से जुड़े सर्वे का कार्य किया जा चुका है।इस अवसर पर संस्था के भारतीय परियोजना अभियन्ता अखिलेश प्रसाद,पेयजल संस्थान के परियोजना प्रबंधक अनुरक्षण एवं निर्माण ( गंगा)एस के वर्मा,अपर सहायक अभियन्ता रविन्द्र गंगाड़ी, अपर सहायक अभियंता संदीप कुमार,अपर सहायक अभियंता राजेन्द्र कुमार प्रमुख रूप से मौजूद रहे।जर्मन दल ने बताया कि शीघ्र ही वित्त पोषण प्रदान करने वाले विश्व प्रसिद्ध बैंक के इफी डब्लू की टीम ऋषिकेश का दौरा करेगी।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: