कोविड अस्पताल की बत्ती गुल कर कर्मचारियों को बेरोजगार करना चाहता है एम्स प्रशासन-जयेंद्र रमोला

कोविड अस्पताल की बत्ती गुल कर कर्मचारियों को बेरोजगार करना चाहता है एम्स प्रशासन-जयेंद्र रमोला

ऋषिकेश-कोरोना काल में डीआरडीओ की ओर से आई डी पी एल में स्थापित शहीद जसवंत सिंह रावत कोविड अस्पताल बनाया गया था। जिसको संचालित एम्स ऋषिकेश द्वारा किया जा रहा था। 2.20 करोड़ रुपये की बिजली उपयोग का भुगतान ना होने के कारण अस्पताल की बिजली काट दी है।





बिजली काटने से वहां कार्यरत नर्सिंग ओर अन्य स्टाफ को काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। इसी घटनाक्रम को देखते हुए ऋषिकेश कांग्रेस के नेता जयेंद्र रमोला ने एम्स ऋषिकेश ओर ऊर्जा निगम के खिलाफ बड़ी साजिश का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि एम्स ऋषिकेश और ऊर्जा निगम की सांठगांठ के कारण अस्पताल की बिजली काटी गई है।देश व उत्तराखंड में कोरोना का संक्रमण काफी कम हो गया है जिसको देखते हुए एम्स प्रशासन द्वारा संविदा और आउटसोर्सिंग के माध्यम से कार्यरत स्टाफ ओर कर्मचारियों को बाहर निकालने की साजिश की जा रही है। उन्होंने कह एम्स प्रशासन पर भ्रष्टाचार के आरोप भी लगते रहे हैंं। इस प्रकरण की जांच होनी चाहिये और यदि कोई दोषी पाया जाता है तो उसको दंडित किया जाना चाहिए।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: