मोजूदा दौर में शहीदों की विरासत को जानना बेहद जरूरी!

मोजूदा दौर में शहीदों की विरासत को जानना बेहद जरूरी!

ऋषिकेश-शहर की शैक्षणिक संस्थानों में शहीद भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव की शहादत पर नमन करते हुए अमर वीर सपूतों को श्रद्धासुमन अर्पित किए गए।



चन्द्रेश्वर नगर स्थित निःशुल्क शैक्षणिक संस्थान ज्ञान करतार पब्लिक स्कूल में भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव की शहादत को राष्ट्रभक्ति की दृष्टि से अविस्मरणीय बताते हुए तीनों शहीदों को नमन किया गया।इस अवसर पर स्कूल के संस्थापक गुरूविंदर सलूजा ने कहा कि हम सभी को शहीद भगतसिंह, राजगुरु व सुखदेव के जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए और उनके बलिदान को व्यर्थ नहीं जाने देना चाहिए।ऋषिकेश इंटरनेशनल स्कूल के सचिव कप्तान सुमंत डंग ने शहीदी दिवस के अवसर पर कहा कि भगत सिंह, राजगुरू व सुखदेव को 23 मार्च के दिन फांसी दी गई थे। देश की आजादी के लिए तीनों हंसते हुए फांसी के फंदे पर झूल गए थे।उनके बलिदान को हमें कभी नहीं भूलना चाहिए।
पॉली किड्स पब्लिक स्कूल के डायरेक्टर वैभव सकलानी ने शहीद भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव के असाधारण साहस और शहादत के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करते हुए गर्व के साथ उन्हें याद किया।उन्होंने कहा कि आज भगत सिंह, राजगुरु व सुखदेव के शहादत दिवस को अनेकों वर्ष पूरे हो चुके हैं, लेकिन बड़ी संख्या में लोग आज भी इन शहीदों से लगाव रखते हैं।साथ ही कहा कि,
आज के दौर में शहीदों की विरासत को जानना बहुत जरूरी है।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: