होली पर्व पर रंगों से साराबोर रही देवभूमि ,विदेशियों पर भी चढ़ा पर्व का रंग!

होली पर्व पर रंगों से साराबोर रही देवभूमि ,विदेशियों पर भी चढ़ा पर्व का रंग!

ऋषिकेश- आपसी सोहार्द,भाईचारे और रंगों का पर्व होली तीर्थनगरी तथा समीपवर्ती ग्रामीण क्षेत्रों में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस दौरान लोगों ने एक दूसरे को अबीर गुलाल लगाकर भाईचारे का संदेश दिया। वहीं लोग दिन भर डीजे की धुन पर थिरकते नजर आए। महापौर अनिता ममगाई के आवास पर पर्व की जबरदस्त रोनक रही यहां पहुंचे लोगों ने महापौर को बधाईयां दी। साथ ही पकवानों का लुत्फ भी उठाया।उधर ऋषिकेश विधानसभा सीट में जीत का चौका लगाकर इतिहास रचने वाले प्रेमचंद अग्रवाल ने भी अपने जमकर होली खेली ।उन्होंने विधानसभा के विभिन्न क्षेत्रों में पहुंचकर लोगों को पर्व की बधाई भी दी।



शुक्रवार को होली के पावन पर्व पर लोगों ने अपने घरों और मोहल्लों में जमकर होली खेली। होली की मस्ती रेलवे रोड, हरिद्वार रोड, देहरादून रोड, तिलक रोड, बनखंडी, शांतिनगर, इंद्रानगर, आशुतोष नगर, गंगानगर, आवास विकास कॉलोनी, गीतानगर, नंदू फार्म, भट्टोवाला, अमित ग्राम, रायवाला, मायाकुंड, चंद्रेश्वर नगर, शीशमझाड़ी, चौदह बीघा, ढालवाला, मुनिकीरेती, तपोवन, रामझूला, लक्ष्मणझूला आदि क्षेत्रों में सुबह आठ बजे से ही शुरु हो गई थी।लोगों ने अपने-अपने घरों की छतों पर डीजे लगाकर होली तथा देशभक्ति गीत चलाकर नृत्य किया। वहीं, एक दूसरे पर पानी की बौछार कर होली पर्व धूमधाम से मनाया। इस दौरान बच्चों ने घरों की छतों से सड़क पर जाने वाले लोगों पर गुब्बारे भी बरसाए। बच्चों ने पिचकारी से लोगों को खूब भिगाया। इस मौके पर अलग-अलग क्षेत्रों में लोगों की टुकड़ी अपने परिजन, मित्रों के घर जाकर बधाई देेती दिखाई दी। एक-दूसरे पर अबीर गुलाल लगाकर बधाई दी, जबकि गले लगाकर आपसी गिले शिकवे दूर किए। इस दौरान लोगों के घर आगमन पर उन्हें गुजिया, पापड़, आलू की चाट, दही भल्ले, गोल गप्पे आदि पकवान परोसे गए।

अबीर गुलाल से रंगे नजर आए विदेशी मेहमान

भाईचारे को दर्शाता पवित्र त्यौहार होली से विदेशी भी अछूते नहीं रहे। मुनिकीरेती, स्वर्गाश्रम, लक्ष्मणझूला क्षेत्र में विदेशियों ने भी जमकर होली खेली। उन्होंने भी एक दूसरे को रंग लगाकर भाईचारे का संदेश देते हुए होली पर्व की बधाई दी। साथ ही होली के गीतों पर ठुमके भी लगाए।

होली पर पैक रहे होटल, लॉज और धर्मशालाएं

होली पर पर तीर्थनगरी के होटल, लॉज और धर्मशालाएं पर्यटकों से पैक नजर आए। इस दौरान होटल, लॉज और धर्मशालाओं ने पर्यटकों की आमद को देखते हुए दाम भी दोगुने कर दिए। इसके अलावा पर्यटकों की आमद बढ़ने से रामझूला और जानकी पुल कुछ देर के लिए भी खाली नहीं रहा। पुल पर पर्यटकों की भारी भीड़ देखने को मिली।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: