रंगों के पर्व में आखों का रखें ख्याल-डॉ राजे सिंह नेगी

रंगों के पर्व में आखों का रखें ख्याल-डॉ राजे सिंह नेगी

ऋषिकेश-होली के दिन सारे गिले-शिकवे मिटाकर एक दूसरे को प्यार भरा गुलाल लगाना तो बनता ही है। इस दिन भाई-बहन, दोस्त और रिश्तेदार एक-दूसरे को रंग लगाते हैं। रंगों का खेल है तो सभी बेतकल्लुफ होकर एक-दूसरे को रंगने की फिराक में रहते हैं। कई बार होली के यह रंग आंखों में पहुंच जाते हैं और आंखों को नुकसान पहुंचाते हैं। केमिकल और एसिड के प्रयोग से तैयार रंग जब आंखों में चले जाते हैं तो आंखों में बेहद जलन और खुजली पैदा करते हैं। कभी-कभी यह रंग आंखों की पुतली को भी नुकसान पहुंचाते हैं।



होली की धमाचौकडी कहीं आखों पर भारी ना पड़ जाये इसको लेकर नगर के प्रमुख नेत्र दृष्टि विशेषज्ञ डॉ राजे सिंह नेगी ने चिंता जताई है।उन्होंने कहा कि कोरोना का कहर थमने के बाद हर कोई इस बार जमकर होली खेलने की तैयारियों में जुटा हुआ है।ऐसे में जमकर गुलाल उढ़ना स्वाभाविक है।लेकिन होली की मस्ती कहीं आखों के लिए भारी ना पढ़ जाये इसको लेकर सचेत होना होगा।नगर के प्रमुख नेत्र दृष्टि विशेषज्ञ डा नेगी के अनुसार केमिकल और एसिड के प्रयोग से तैयार रंग जब आंखों में चले जाते हैं तो आंखों में बेहद जलन और खुजली पैदा करते हैं। कभी-कभी यह रंग आंखों की पुतली को भी नुकसान पहुंचाते हैं।इसलिए होली के दिन रंगों से आंखों की हिफ़ाज़त करना बेहद जरुरी है।उन्होंने बताया कि आंखों को रंगों से बचाने के लिए आंखों के आस-पास सरसों का तेल या कोई क्रीम लगा लें। क्रीम लगाने से आंखों के आस-पास नमी बनी रहेगी। इस नमी के कारण जब कोई आपकी आंखों में रंग फेंकेगा तो यह पलकों पर ही चिपक जाएगा। हमारी पलक इतनी तेजी से झपकती है कि आंखों में रंग जाने का खतरा बहुत कम हो जाता है।बकौल नेत्र दृष्टि विशेषज्ञ के मुताबिक
आंखों में सूखा रंग बहुत हानिकारक हो सकता है। आंखों में सूखा रंग जाने के बाद अगर उसे पानी से वॉश किया जाता है तो यह रंग आंखों पर फैल जाएगा और रेटिना पर रंग होने के कारण आपको थोड़ी देर तक देखने में भी परेशानी होगी। इसलिए आंखों को पानी से वॉश नहीं करें बल्कि किसी आईक्लीनर ड्रॉप को पहले से खरीद कर रखें और आंख में पड़े रंग को साफ करने के लिए उसका प्रयोग करें।आंखों में कुछ भी जाने पर हम आंखों को रगड़ना शुरू कर देते हैं, इससे आंखों में जलन पैदा कर सकती है। आंखों में रंग जाने के बाद उन्हें रगड़े नहीं बल्कि किसी सूती कपड़े से इसे हल्के हाथों से साफ करने की कोशिश करें।उन्होंने बताया कि आंखों को साफ करने के बाद भी अगर आंखों में जलन रहती है तो आप आंखों में गुलाब जल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर जलन देर तक रहे तो आप डाक्टर को दिखाएं।
आंखों को बचाने के लिए होली खेलने के दौरान सन ग्लास का इस्तेमाल करें। चश्मा का इस्तेमाल करेंगे तो रंग आंखों में नहीं जाएगा।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: