हुस्न पहाड़ों का क्या कहना की बारहों महीने यहां मौसम जाड़ो का!

हुस्न पहाड़ों का क्या कहना की बारहों महीने यहां मौसम जाड़ो का!

ऋषिकेश-हुस्न पहाड़ों का क्या कहना की बारहों महीने यहां मौसम जाड़ों का। शोमैन राज कपूर साहब की राम तेरी गंगा मैली फिल्म का यह सदाबहार गीत आज भी उत्तराखंड की वादियों पर चरितार्थ है।


महाशिवरात्रि पर्व की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है और होली का त्यौहार भी सिर पर है लेकिन मौसम का मिजाज अभी भी ठंडा बना हुआ है। पहाड़ों पर हुई बर्फबारी और बारिश के चलते सुबह तीर्थ नगरी की हवा में ठंडक बढ़ गई है। सुबह हल्‍के बादलों के साथ हल्की बरसात भी हुई। शनिवार सुबह हल्‍के बादल छाए रहे। फरवरी का आखिर आते आते मौसम ने एक बार फिर रंग बदला है। दोपहर में जहां तेज धूप पसीने छुड़ाने लगी थी, वहीं शनिवार को सुबह से हल्‍के गर्म कपड़ों की जरूरत फिर महसूस होने लगी। उत्‍तराखंड की पहाडि़यों पर ताजा बर्फबारी और बारिश के चलते ऋषिकेश में हवा में ठंडक बढ़ गई है।मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि दोपहर में भी हवा में ठंडक बरकरार रहेगी। मौसम विभाग का कहना है कि मार्च के शुरुआती दिनों में भी हवा में ठंडक बरकरार रहेगी। कभी धूप तेज लगेगी तो कभी हल्‍की।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: