ऋषिकेश इंटरनेशनल स्कूल में बसंत पंचमी पर्व पर मां सरस्वती का हुआ पूजन

ऋषिकेश इंटरनेशनल स्कूल में बसंत पंचमी पर्व पर मां सरस्वती का हुआ पूजन

ऋषिकेश-ऋषिकेश इंटरनेशनल स्कूल में बंसत पंचमी पर्व बेहद श्रद्वापूर्वक मनाया गया।इस अवसर पर विधालय प्रंबध समिति ने शिक्षा की देवी मां सरसवती के चरणों में पुष्प माला अर्पित की।



शनिवार को ढालवाला स्थित इंटरनेशनल स्कूल के सभागार में कोरोना गाईडलाईन के अनुसार बेहद सादगी पूर्वक बंसत पंचमी पर्व मनाया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ विद्यालय के प्रबंधक मोहन डंग, सचिव कैप्टन सुमंत डंग, श्रीमती पूजा डंग, महिमा डंग एवं विद्यालय प्रधानाचार्या डॉ कोयली चक्रवर्ती ने विद्या की देवी माँ सरस्वती के चरण कमलों में पुष्पमाला अर्पित करने के उपरांत संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया lइस अवसर पर कक्षा दसवीं एवं ग्यारहवी के छात्र- छात्राओं द्वारा सुंदर वंदना ‘हे हंसवाहिनी ज्ञान दायानी,अम्ब विमल मति दे….’पर सुंदर प्रस्तुति के साथ कार्यक्रम की शुरूआत की गई। तत्पश्चात हिंदी की कनिष्ठ वर्ग की अध्यापिका अर्चना वर्मा’ ने विद्या की देवी माँ सरस्वती के पावन पर्व पर अपने शब्दों में एक सुंदर वंदना ‘या कुन देन्दु …….’ की प्रस्तुति दी I इस अवसर पर सभी अध्यापिकाओं ने सामुहिक रूप से विद्या की देवी माँ सरस्वती की वंदना ‘ जयति, जया,जया माँ सरस्वती,जयति वीणा धारणी ‘और ‘हे शारदे माँ,हे शारदे माँ…’ पर सुन्दर प्रस्तुति दी Iविद्यालय प्रधानाचार्या डॉ कोयली चक्रवर्ती ने भी विद्या की देवी माँ सरस्वती जी के चरण कमलो में अपनी मधुर ध्वनि में एक आकर्षक वन्दना ‘ वर दे, वीणा वादिनि वर दे….’ पर सुंदर प्रस्तुति दी।विद्यालय सचिव कैप्टन सुमंत डंग ने उपस्थित छात्र – छात्राओं एवं सभी शिक्षिकाओं को बसंत पंचमी की बधाई देते हुए भी के समक्ष अपने विचार प्रस्तुत करते हुए, विद्या रुपी ज्ञान के महत्व को समझाते हुए कहा कि शिक्षा एवम शिक्षित होना हम भी के लिए कितना आवश्यक है। एक सफल भविष्य की कुंजी भी शिक्षा ही है। साथ ही उन्होंने इस बढ़ती महामारी की रोकथाम हेतु किए जा रहे अथक प्रयास यानि टीकाकरण के लिए सभी को सचेत किया और सभी को अपने स्वयं हेतु आत्म रक्षा के लिए सामाजिकदूरी और मास्क लगाने के लिए भी सचेत रहने की सलाह दी lविद्यालय प्रधानाचार्या डॉ कोयली चक्रवर्ती ने भी सबसे पहले सभी छात्र – छात्राओं और साथ ही उपस्थित सभी शिक्षिकाओं को बसंत पंचमी की बधाई दी ।उन्होंने कहा कि “विद्या ही जीवन का सार है,आधार है”। शिक्षित होना ही अपने आप में एक गर्व की बात है और हमें गर्व है कि हम आज एक सफल एवं शिक्षित शिक्षक एवं शिक्षिका हैंं।इस अवसर पर बिंदु शर्मा, दीपा शर्मा,अलीशा खान,अर्चना वर्मा सहित सभी शिक्षक एवं सभी शिक्षिकाओं ने समाजिक दूरी बनाते हुए उपस्थित बच्चों को प्रसाद वितरण किया l

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: