प्रथम ‘चाक कविता सम्मान’ शिव प्रसाद जोशी के कविता संग्रह को

प्रथम ‘चाक कविता सम्मान’ शिव प्रसाद जोशी के कविता संग्रह को

ऋषिकेश-वर्ष 2021 का सोहनवीर सिंह प्रजापति स्मृति ‘चाक कविता सम्मान’ कवि शिवप्रसाद जोशी को दिये जाने की घोषणा की गयी है।



चाक सम्मान समिति की एक बैठक में सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया। चयन समिति के सदस्य रमेश प्रजापति ने बताया कि ‘चाक कविता सम्मान’ प्रत्येक वर्ष उनके पिता सोहनवीर सिंह प्रजापति की स्मृति में दिया जाएगा। शीघ्र ही आयोजित होने वाले एक कार्यक्रम में यह सम्मान कवि को भेंट किया जाना है। वर्ष 2021 का यह सम्मान शिवप्रसाद जोशी के कविता-संग्रह ‘रिक्तस्थान और अन्य कविताएँ’ के लिए दिया जा रहा है। ये कविता संग्रह काव्यांश प्रकाशन ऋषिकेश द्वारा प्रकाशित किया गया है। तीन दशक की इन कविताओं में आत्मा की बेचैनियां और प्रेम की उधेड़बुन है, गिरना उठना और फ़जीहतें हैं। अपने वक़्त की और आने वाले वक़्तों की मुश्किलों और दुरुहताओं में अपना एक दूर तक जाता और उतना ही भीतर तक पहुँचता रास्ता खोजने की कोशिश भी इनमें है। वहाँ जितनी रोशनियाँ हैं उनसे कम अँधेरा नहीं है। शिल्पगत तनावों वाली ये कविताएँ अपनी सादगी और ईमानदारी में और अपनी मौजदूगी के लिए बहुत कम जगह घेरती हुई भी कुछ निशान छोड़ जाती हैं। इनका मूल स्वर हेजेमनी के वायुमंडल का प्रतिरोध है और एक दुर्लभ गुण इन्हें परस्पर जोड़े रखता है और वो गुण है इंतज़ार का। उनकी कविताएँ संवेदनशील अभिव्यक्ति होने के साथ समकाल के संदर्भों से संपृक्त अपने सरोकारों का पूरी जिम्मेदारी से निर्वाह करती हैं और समकाल की आलोचनात्मक व्याख्या करते हुए बेहतर भविष्य की सम्भावनाओं को इंगित करती है।उक्त बैठक में मुख्य रूप से रजत कृष्ण, भास्कर चैधरी, रोहित कौशिक, रमेश प्रजापति एवं परमेन्द्र सिंह उपस्थित रहे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: