पूर्णानंद घाट में महिलाओं ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का दिया संदेश

पूर्णानंद घाट में महिलाओं ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का दिया संदेश

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के संदेश को फैलाने की गंगा आरती में ली शपथ।

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना समन्वय से बनाएं सफल

ऋषिकेश- ऋषिकेश गंगा आरती ट्रस्ट के तत्वावधान में पूर्णानंद घाट में महिलाओं द्वारा की जा रही गंगा आरती में महिलाओं व योगा धरनेंद्र गुरुकुलम के अध्यक्ष द्वारा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना दिवस पर गंगा के पावन तट पर बालिकाओं के सुखद समन्वय एवं उत्तम स्वास्थ्य की प्रार्थना की गई। बालिकाओं को साक्षर बनाने,उनका उत्साहवर्धन करने व उनमें छुपी प्रतिभाओं को आगे लाने के लिए गंगा आरती की गई।



योगा धरनेंद्र गुरुकुलम के अध्यक्ष स्वामी ईश्वरानंद ने बालिकाओं का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि आज किसी भी क्षेत्र में बालिकाएं बालकों से कम नहीं हैं। उन्होंने बालिकाओं को अपनी क्षमताओं को समझने, अपने सपनों को बुनने और जीवन में आत्मनिर्भर बनने की प्रेरणा दी। स्वामी जी ने कहा कि समाज व देश के विकास में शिक्षित व सजग बालिकाओं का अहम योगदान है। बालिकाओं के शिक्षित होने से उनकी रोशनी से दो घर रोशन होते है। इनकी शिक्षा पर अभिभावकों को विशेष ध्यान देना चाहिए।डॉ. ज्योति शर्मा ने कहा कि परिवार बच्चे की प्रथम पाठशाला है। जिसमे मां के सानिध्य का सबसे अधिक महत्व होता है इसलिए माता का शिक्षित होना नितान्त आवश्यक है।श्रीमती शान्ति सिहं ने कहा कि शिक्षित बेटियां ही देश का भविष्य हैं। आज बेटियां हर क्षेत्र में तरक्की का नया अध्याय लिख रही हैं हम सबको इन्हें आगे आने का मौका देना चाहिए।सुशीला सेमवाल भाजपा मंडल उपाध्यक्ष मुनी की रेती ने कहा कि यह अभियान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुरू किया था। केंद्र और प्रदेश में भाजपा की सरकार आने के बाद महिलाओं को तरक्की के अधिक अवसर मिले हैं। अब महिलाएं अधिक सुरक्षित महसूस करती हैं।उन्होंने कहा कि 6 वर्ष तक के सभी कमजोर बच्चों की स्वास्थ्य जांच केंद्र सरकार करवा रही है। पोषण योजना के तहत उत्तम स्वास्थ्य की व्यवस्था से नई पीढ़ी सबल होगी। बेटी पढाओ, बेटी बचाओ अभियान से नारी शक्ति को बल मिलेगा। इस अवसर पर ऋषिकेश गंगा आरती परिवार व उपस्थित सभी लोगों ने इस संदेश को जनमानस तक पहुचाने की शपथ ली।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: