कोरोना की जंग में फिटनेस मंत्र पर है यूथ का फोकस!

कोरोना की जंग में फिटनेस मंत्र पर है यूथ का फोकस!

ऋषिकेश-वैश्विक कोरोना महामारी ने लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरुक रहने का सकारात्मक सबक दिया है। कोरोना काल में आमजन में अपनी फिटनेस को लेकर जागरुकता बढ़ी है।



हालांकि कोरोना के नये वेरिएंट के उत्तराखंड में दस्तक के बाद जिम संचालकों और नियमित रूप से जिम जाने वाले यूथ दोनों की चिंता भी बड़ी हैं।चिताएं इस बात को लेकर है कि कहीं ओमीक्रान के बड़ते मामलों के बीच जिमों फिर से ताले ना लग जाये।लेकिन इन सबके बीच सच्चाई यह भी है कि कोरोना ने लोगों की लाइफ स्टाइल बदल दी है और मॉर्निंग वॉक, व एक्सरसाइज लोगों की दिनचर्या में शामिल हो गए है। इसके अलावा, लोगों का जिम के प्रति आकर्षण बढ़ा है। इसमें युवा ही नहीं, हर आयु वर्ग के महिला-पुरुष जिम में वर्जिश करते दिख जाते है।अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त धार्मिक एवं पर्यटन नगरी ऋषिकेश में दर्जनों जिम है। जिसमें जाकर कसरत करने वालों में केवल युवा ही नहीं बल्कि लड़कियां व बुजुर्ग भी है। रेलवे रोड़ पर होटल इंद्रलोक में बने बेहद अत्याधुनिक जिम फिटनेस एलर्ट के संचालक कैप्टन सुमंत डंग ने बताया कि कोरोना महामारी लोगों के स्वास्थ्य के लिए एक बड़ी चुनौती के रूप में सामने आया है। जिसका सामना करने के लिए शारीरिक योग, कसरत, प्राणायाम,ध्यान, आसन आदि कारगर साबित हुए है। व्यक्ति को घर में कसरत व व्यायाम करने का माहोल भी नहीं मिलता। इन सभी परेशानियों का हल जिम में मिलता है, जहां कोच द्वारा व्यवस्थित तरीके से एक्सरसाइज करवाई जाती है। ऐसे में जिम केवल फिटनेस मेन्टेन रखने के रूप में शौक ही नहीं बल्कि कई शारीरिक कमियों को दूर करने के लिए जरूरत भी बना है।कोरोना की जंग में इम्यूनिटी बूस्टअप के लिए नियमित रूप से वर्जिश करना वरदान साबित हो रहा है।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: