गंगा आरती में सम्मिलित होने के लिए मुख्यमंत्री को किया आमंत्रित

महिलाओं को स्वावलंबी बनाएगी ऋषिकेश गंगा आरती ट्रस्ट

गंगा आरती में सम्मिलित होने के लिए मुख्यमंत्री को किया आमंत्रित

महिलाओं के सम्मान व स्वावलंबी बनाने के लिए समर्पित है सरकारः पुष्कर धामी

ऋषिकेश- ऋषिकेश गंगा आरती ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री उत्तराखंड पुष्कर सिंह धामी से उनके आवास में शिष्टाचार मुलाकात कर उन्हें तुलसी का पौधा भेंट किया। साथ ही गंग सबला-एक संकल्पना परियोजना (महिलाओं द्वारा की जा रही गंगा आरती) उद्घाटन बेला में मकर संक्रांति के पावन पर्व पर निमंत्रण पत्र दे कर आमंत्रित किया।



मुख्यमंत्री ने आरती में सम्मिलित होने का आश्वासन व अपना पूर्ण समर्थन दिया ।साथ ही कहा कि भाजपा सरकार की कथनी और करनी में कोई फर्क नहीं है।मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा सरकार महिला के सम्मान, सुरक्षा और महिलाओं को स्वावलंबी बनाने के लिए समर्पित है। केन्द्र और प्रदेश की सरकार जाति-धर्म और मजहब से ऊपर उठकर लोगों के लिए काम कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा भाजपा की सरकार में महिलाओं को सर्वाधिक अवसर और सुरक्षा दी गई। विशाल भट्ट ने इस अवसर पर कहा कि देश के युवाओं को राज्य धर्म, राष्ट्र धर्म व परिवार धर्म के साथ साथ पर्यावरण धर्म का भी पालन करना चाहिए।संघ्या ने कहा कि महिला उत्थान के लिए महिला सुरक्षा और महिला स्वावलंबन बहुत जरूरी है। ऋषिकेश गंगा आरती ट्रस्ट का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को स्वावलंबी बनाना व अधिकारों के प्रति जागरूक करना है। शांति ने कहा कि जरूरी नहीं है कि आप पढ़े-लिखे हैं और आपके पास डिग्रियां हैं तो ही आप आत्मनिर्भर बन सकते हैं। जरूरी यह है कि आप अपने हुनर को पहचान कर भी आत्मनिर्भर बन सकते हैं। भाजपा नेत्री सुशीला सेमवाल ने कहा महिलाएं एकजुट होकर पुनः भाजपा की सरकार बनाएंगी । महिलाओं की ताकत से भाजपा पुनः और मजबूत सरकार बनाएगी। भाजपा ने हर मोर्चे पर जमीनी धरातल पर काम किया है। हर वर्ग के लोग सरकार की योजनाओं का लाभ ले रहे है। महिलाएं बेहतर ढंग से जानती है कि भाजपा में ही उनका और देश, प्रदेश का भविष्य सुरक्षित है।इस अवसर पर ऋषिकेश गंगा आरती से संध्या , युवक मंगल दल हरिपुर कला अध्यक्ष विशाल भट्ट ,गंगा-सबला प्रोजेक्ट मैनेजर शांति , सुशीला सेमवाल मंडल उपाध्यक्ष मुनी की रेती ऋषिकेश आदि मुख्य रूप से मोजूद रहे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: