जल सुरक्षा एवं गुणवत्ता को लेकर कार्यशाला आयोजित

जल सुरक्षा एवं गुणवत्ता को लेकर कार्यशाला आयोजित

ऋषिकेश- सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज आवास विकास में जल सुरक्षा और जल की गुणवत्ता को लेकर परियोजना प्रबंधन इकाई, उत्तराखंड राज्य विज्ञान, प्रौद्योगिकी परिषद देहरादून एवं उत्तराखंड जल संस्थान देहरादून एवं राष्ट्रीय सेवा योजना प्रकोष्ठ के संयुक्त तत्वाधान में कार्यशाला आयोजित की गई ।


कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि के रूप में डॉ गौरव वार्ष्णेय , विशिष्ट अतिथि प्रोफेसर विनय एस. पी. सिन्हा , दिले राम रवि कार्यक्रम अध्यक्ष प्रधानाचार्य राजेंद्र प्रसाद पांडेय ने संयुक्त रुप से दीप प्रज्वलन कर किया।कार्यक्रम में सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज आवास विकास के एन एस एस के स्वयंसेवकों द्वारा स्वागत गीत एवं आरंभ है प्रचंड है नृत्य की सुंदर प्रस्तुति दी गई।
कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में डॉ प्रशांत सिंह असिस्टेंट ऑफिसर डीएवी पीजी कालेज देहरादून, ने सामाजिक उपयोग के स्रोत पर अपना व्याख्यान दिया। कहा कि, जल है तो जीवन है ।जल की गुणवत्ता सदैव अच्छी होनी चाहिए क्योंकि जल यदि दूषित होगा तो हमारा स्वास्थ्य अच्छा नहीं रह सकता।प्रोफेसर विनय एस पी सिन्हा ने कहा कि जल की गुणवत्ता खराब होने के क्या कारण है उन कारणों का कैसे निस्तारण किया जा सके, इसका हमें विशेष ध्यान रखना चाहिए।
आमंत्रित व्याख्यान के रूप में इंजीनियर अनिल नेगी ने ऋषिकेश की जल गुणवत्ता की स्थिति पर टेस्टिंग किट के माध्यम से प्रयोग कर जल की गुणवत्ता की परख की ।
इस अवसर पर कार्यक्रम संयोजक रामगोपाल रतूड़ी , स्थानीय विद्यालय से आए राष्ट्रीय सेवा योजना प्रकोष्ठ कार्यक्रम अधिकारी जयकृत सिंह रावत, विजय पाल सिंह , एस एस श्रीवास्तव , श्रीमती गीता देवी यादव , श्रीमती ज्योति रानी सडाना , मनोज कुमार गुप्ता सहित सभी विद्यालयों के स्वयंसेवकों ने प्रतिभाग किया और जल की गुणवत्ता के बारे में जानकारी ली।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: