बिजली, पानी में मूल्यवृद्धि व नगर निगम द्वारा संपत्ति कर दोगुना करने के विरोध में उत्तराखंड जन विकास मंच ने शुरू किया धरना

बिजली, पानी में मूल्यवृद्धि व नगर निगम द्वारा संपत्ति कर दोगुना करने के विरोध में उत्तराखंड जन विकास मंच ने शुरू किया धरना

ऋषिकेश- उत्तराखंड जन विकास मंच ने पानी, बिजली के बिलों में अप्रत्याशित वृद्धि व नगर निगम ऋषिकेश द्वारा संपत्ति कर दोगुना करने के विरोध स्वरूप पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस पर धरना शुरू कर दिया है।


मंच के अध्यक्ष आशुतोष शर्मा ने बताया कि विगत डेढ़ वर्ष पूर्व उत्तराखंड जन विकास मंच के द्वारा स्व निर्धारित संपत्ति कर प्रणाली के संबंध में नगर निगम ऋषिकेश से पत्राचार करके संपत्ति कर की दर कम करने का निवेदन किया था परंतु नगर निगम ऋषिकेश द्वारा दर कम ना करके 50% की छूट का प्रावधान किया गया जिस के संबंध में मंच द्वारा पहले ही आशंका व्यक्ति की गई थी कि यह छूट कभी भी समाप्त हो जाएगी और भविष्य में जनता से इस छूट की वसूली भी की जा सकती है जिसका खामियाजा एक छोटे ग्रह स्वामी से लेकर रेस्टोरेंट संचालक, दुकानदार, पर्यटन व होटल इंडस्ट्री से जुड़े से लोगों को भुगतना पड़ रहा है। सरकार से उन्होंने मांग की कि वह हाउस रेंट अलाउंस के अनुसार संपत्ति कर की दर को संशोधित करते हुए एक तिहाई कर ऋषिकेश निगम वासियों को राहत पहुंचाए।
मंच के संरक्षक हरि सिंह भंडारी व रामकृपाल गौतम ने कहा पानी के बिलो में मे प्रतिवर्ष 15% की वृद्धि जनता से किसी भी दृष्टि से विधि सम्मत नहीं कही जा सकती जिसको यथाशीघ्र वापस लिया जाना चाहिए।
पूर्व सैनिक हिकमत नेगी व गजेंद्र सजवान ने कहा कि बिजली के बिलों को जनता को प्रतिमाह दिया जाना चाहिए जिससे उन्हें स्लैब के अनुसार लाभ मिल सके।इस अवसर पर धरने को समर्थन देने वालों में राजे नेगी, गंगा शरण यादव ,योगेश शर्मा ,विपिन शर्मा, राजेंद्र पाल, विनोद सजवान, राजू गुप्ता ,राहुल वर्मा ,आकाश सिंह ,सुधीर गुप्ता ,सोनी पाल ,सतेंद्र, जितेंद्र कुमार ,गंभीर सिंह भंडारी ,मृत्युंजय गुप्ता, राकेश कंडवाल ,राजेश राजभर, उमेश कुमार शर्मा, राजीव गुप्ता आदि उपस्थित थे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: