जागरूकता ही एड्स का बचाव : शालिनी कोटियाल

जागरूकता ही एड्स का बचाव : शालिनी कोटियाल

ऋषिकेश- पंडित ललित मोहन शर्मा श्री देव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय परिसर, ऋषिकेश के मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी विभाग के तत्वावधान में विश्व एड्स दिवस पर जगरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया।
कार्यक्रम का आरंभ प्राचार्य प्रो पंकज पंत व अन्य गणमान्यों का एम एल टी विभाग द्वारा स्वागत किया गया।इस मौके परछात्रों द्वारा सभी गणमान्यों को रेडक्रॉस का रिबन लगाया गया।



कार्यक्रम में भौतिक रूप से उपस्थित ना होने के कारण मेडिकल टेक्नोलॉजी विभाग के समन्वयक प्रोफ़ेसर गुलशन कुमार ढींगरा ने ऑनलाइन माध्यम से सभी अतिथियों का धन्यवाद व स्वागत किया।उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि मेडिकल टेक्नोलॉजी के छात्र-छात्राएं सदैव इस प्रकार के कार्यकर्मो के लिए तैयार रहते हैं ।
मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी विभाग की प्रवक्ता श्रीमती शालिनी कोटियाल द्वारा विश्व एड्स दिवस की महत्त्व पर प्रकाश डाला गया । उन्होंने एच आई वी वायरस और एड्स के बारे में बताया व डब्ल्यू एच ओ द्वारा चलाये जा रहे कार्यक्रमों की विस्तृत जानकारी दी। प्राचार्य प्रो पंकज पंत ने कहा एड्स का बचाव केवल जागरूकता ही है।उन्होंने कहा कि विश्व मे लगभग 37 करोड़ लोग एच आई वी व एड्स से ग्रसित हैं जिसमे 2.78 करोड़ अकेले बच्चे हैं ।इसलिए इस बेहद खतरनाक बीमारी के लिए जागरूकता अभियान चलाया जाना अति आवश्यक है।
कार्यक्रम उपरांत आयोजित हुई क्विज प्रतियोगिता में राशि, राहुल, नारायणी, अमितेश, नेहा, मोनिका, मयंक, आदि को उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए सम्मानित किया गया।इस मौके पर श्री देव सुमन विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो० पी.पी. ध्यानी ने सभी को ऑनलाइन माध्यम से कार्यक्रम केआयोजन के लिए शुभकामनाएं प्रेषित की।इस दौरान एम एल टी विभाग की फैकल्टी व सभी छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: