गंगा स्वच्छता को लेकर चलायी जा रही योजनाओं की सुस्त रफ्तार चिंतनीय-रीना नारायण

गंगा स्वच्छता को लेकर चलायी जा रही योजनाओं की सुस्त रफ्तार चिंतनीय-रीना नारायण

ऋषिकेश- समाजसेविका रीना नारायण ने गंगा की निर्मलता और अविरलता के लिए केन्द्र सरकार द्वारा जोर-शोर से शुरू किए गए इस नमामि गंगे अभियान की कछुआ चाल पर अपनी चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि गंगोत्री से गंगासागर तक गंगा की स्वच्छता को लेकर चलाया जा रहा नमामि गंगे अभियान करोड़ों रूपये खर्च करने के बाद भी गति नही पकड़ पा रहा है।गंगा की स्वच्छता को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रतिबद्धता के बावजूद अभियान की सुस्त रफ्तार बेहद चिंतनीय है।


उनका कहना है कि सरकार को सीवेज के गंदे पानी को गंगा में प्रवेश से रोकने के लिए ठोस कार्ययोजना लाने की जरूरत है।उन्होंने कहा कि ऐसे मेें मोदी सरकार की नमामि गंगे परियोजना से गंगा निर्मलीकरण का सपना कब तक साकार होगा, कहना मुश्किल है।उन्होंने कहा कि गंगा को लेकर केंद्र और विभिन्न राज्य सरकारें अब तक उदासीन ही रही हैं। कार्यशैली के आधार पर देखा जाए तो नमामी गंगे मिशन भी पूर्व की गंगा एक्शन प्लान की तरह ही सफेद हाथी साबित हो रहा है। पिछले छह साल में गंगा पर बातें बहुत हुई हैं, लेकिन इस दिशा में कोई ठोस नीति तैयार नहीं हो पाई है।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: