ग्राहकों की जबरदस्त खरीदारी के चलते मंगलकारी रहा धनतेरस पर्व

ग्राहकों की जबरदस्त खरीदारी के चलते मंगलकारी रहा धनतेरस पर्व

पर्व पर दुपहिया वाहनों की हुई बंपर सैल,खिला बर्तन बाजार

आभूषणों की बंपर खरीदारी से ज्वैलरी संचालकों पर हुई जमकर धनवर्षा

ऋषिकेश-कोरोना की कड़वी यादों को पीछें छोड़कर तीर्थ नगरी ऋषिकेश में धनतेरस पर्व पर आज जमकर खरीदारी की।नगर के तमाम बाजारों में खरीदारी के लिए शहरवासियों का हजूम उमड़ने से बंपर सैल होने से व्यापारियों पर जमकर धनवर्षा हुई।


दीपोत्सव की श्रंखला के सबसे महत्वपूर्ण धनतेरस पर्व पर ऋषिकेश का बाजार दिनभर ग्राहकों से लकदक रहा।मुर्खजी बाजार, क्षेत्र बाजार, घाट बाजार, रेलवे रोड़ ,झंडा चौक में तो दिनभर तिल रखने की जगह भी नजर नही आई। इस बार बाजार में जमकर धनवर्षा होने से व्यापारी ही नहीं बाजारों में हर कोई खुश दिखाई दिया। धनतेरस पर बाजारों में भीड़ रही जिसके चलते इस बार व्यापारियों में दीपावली पर्व को धूमधाम से मनाने की उम्मीद बढ़ गई है। तिलक रोड़ स्थित जय साईं हीरो के शौरुम के संचालक राजीव कालिया ने बताया कि धनतेरस पर वाहनों की डिलीवरी को लेकर लोगों में क्रेज बरकरार रहा।उम्मीद से कही अधिक वाहनों की सैल की खुशी उनके चेहरे पर दिखाई दी। धनतेरस का त्योहार वाहनों, जूलरी, बर्तन की खरीद के लिए शुभ होने के कारण नई नई स्कीमों से गुलजार बाजारों में ग्राहक और दुकानदार दोनों ही खुश नजर आए । इस दौरान चांदी के लक्ष्मी-गणेश, सिक्कों व जूलरी की जमकर खरीदारी हुई। श्रीराम ज्वेलर्स के संचालक केशव आहूजा का कहना है कि दिवाली देश का सबसे बड़ा त्योहार है, इसलिए खरीदारी का दौर तो चलना ही था। पहले ऐसा लग रहा था कि कोरोना का असर इस बार भी त्योहार को फीका कर देगाा लेकिन ऐसा नही हुुुआ।मंगलवार की सुबह से ही धनतेरस पर बाजारों में खासी भीड़ रही। बर्तन से लेकर फर्नीचर, टीवी, फ्रिज और ज्वैलरी की भी खूब खरीददारी हुई। बाजार भी रंग-बिरंगी रोशनियों से नहाए थे। पूजा के लिए गणेश-लक्ष्मी के साथ चांदी के सिक्के भी खरीदे गए। भीड़ की स्थिति यह थी कि झंडा चौक स्थित ज्वैलरी के तमाम शौरुम ग्राहकों से दिनभर फुल पैक रहे।सबसे अधिक भीड़ बर्तनों की दुकानों में रही। चम्मच से लेकर स्टील के गैस चूल्हे भी खरीदे गए। मिठाई व नमकीन की दुकानें भी सजी नजर आ रही थीं। कही भी कोरोना का कोई असर नहीं दिख रहा था। बर्तन व्यापारियों का कहना है कि साल का त्योहार है, इसमें ग्राहक ज्यादा नहीं तो कुछ न कुछ बर्तन जरूर खरीद रहा है। सराफा व्यापारी हितेंद्र पंवार का कहना था कि हर बार की तरह इस बार भी चांदी के गणेश लक्ष्मी और सिक्कों की काफी डिमांड रही।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: