विद्या मंदिर शिक्षा और संस्कार की अभिनव प्रयोगशाला -डॉ राजे सिंह नेगी

विद्या मंदिर शिक्षा और संस्कार की अभिनव प्रयोगशाला -डॉ राजे सिंह नेगी

ऋषिकेश-ढालवाला स्थित पुष्पा वढ़ेरा सरस्वती विद्या मंदिर में आज छात्र संसद का गठन किया गया।



कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विभिन्न संस्थाओं से जुड़े समाजसेवी डॉ राजे सिंह नेगी ने कहा कि विद्या मंदिर शिक्षा और संस्कार की अभिनव प्रयोगशाला है।यहां से शिक्षा ग्रहण करने वाले छात्र सफलता के सोपान तय करते रहे हैं।उन्होंने कहा कि मोजूदा दौर प्रतिस्पर्धा का दौर है। शिक्षा में प्रतिस्पर्धा छात्रों को मेधावी बनने के लिए प्रेरित करती है।उन्होंने छात्र छात्राओं से अपने संबोधन में कहा कि विद्यालय ही लोकतंत्र की प्रथम पाठशाला है। छात्र संसद का गठन कर उनके अंदर नेतृत्व की भावना का विकास आसानी से किया जा सकता है।इससे पूर्व मुख्य अतिथि जे के तिवारी ,कार्यक्रम अध्यक्ष डा नेगी, विधालय के प्रधानाचार्य विजय बडोनी एवं प्रबंधक हर्ष मनी व्यास के साथ संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ कराया।इस अवसर पर आचार्य दिनेश सकलानी, प्रभाकर भट्ट समेत विधालय के शिक्षक गण उपस्थित थे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: