बडोनी जी के महान संघर्षो के बूते उत्तराखंड निर्माण का सपना हुआ साकार-अनिता ममगाई

बडोनी जी के महान संघर्षो के बूते उत्तराखंड निर्माण का सपना हुआ साकार-अनिता ममगाई

पुण्यतथि पर राज्य आंदोलनकारियों के साथ महपौर ने किया उत्तराखंड के गांधी को नमन

ऋषिकेश-देहरादून रोड़ स्थित गोपाल कुटी में राज्य आंदोलनकारियों ने उत्तराखंड आंदोलन के प्रणेता पहाड़ के गांधी स्व. इंद्रमणि बडोनी की पुण्यतिथि पर भावभीनी श्रद्धांजलि दी।


बुधवार को उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी संयुक्त संघर्ष समिति एवं उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी मंच के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित श्रद्वांजलि सभा में शिरकत करते हुए महापौर अनिता ममगाई ने बडोनी जी के चित्र पर माल्यार्पण किया। उन्होंने कहा कि बडोनी जी के महान संघषों एवं उनके मार्गदर्शन और दिशा निर्देशों में उत्तराखंड राज्य आंदोलन की मांग पूरे देश मे उठी,इन्ही की बदौलत हमे उत्तराखंड राज्य मिल पाया। बडोनी जी आंदोलन के दौरान गांधीवादी विचारों, सत्याग्रहपूर्ण सिद्धांतों और आंदोलन को नेतृत्व देने की अपनी विशिष्ट शैली के कारण स्वतंत्रता आंदोलन के पुरोधा बनकर एक क्रातिकारी नेता के रूप में भारतीय राजनीति में छाए रहे। वह अहिंसक आंदोलन के प्रबल समर्थक थे ।उनके इसी क्रातिकारी व्यक्तित्व को रेखांकित करते हुए तब अमरीकी अखबार ‘वाशिंगटन पोस्ट’ ने स्व.इन्द्रमणि बडोनी जी को ‘पहाड के गॉधी’ की उपाधि दी थी।वाशिंगटन पोस्ट’ ने लिखा था उत्तराखण्ड आंदोलन के सूत्रधार इन्द्रमणि बडोनी जी की आंदोलन में उनकी भूमिका वैसी ही थी जैसी आजादी के संघर्ष के दौरान ‘भारत छाड़ो’ आंदोलन में राष्ट्रपिता महात्मा गांधीवादी ने निभायी थी। महापौर ने कहा कि उनके विचारों को आत्मसात करना ही उनके प्रति सच्ची हो सकती है। श्रद्धांजलि अर्पित करने वालों में वेद प्रकाश शर्मा, राजपाल खरोला,बलवीर सिंह नेगी,डी एस गुसाईं, उर्मिला डबराल, जयंती नेगी,शांति डोभाल, सोहन लाल बेलवाल आदि प्रमुख रूप से शामिल रहे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: