हाथी ने तोड़ी बाउंड्रीवाल,चट की मक्का की फसल

हाथी ने तोड़ी बाउंड्रीवाल,चट की मक्का की फसल

ऋषिकेश- राजाजी टाइगर रिर्जव से सटे ग्रामीण क्षेत्र में हाथी का उत्पात लगातार बढ़ रहा है। बुधवार रात प्रतीतनगर के वार्ड नंबर आठ में आए एक हाथी ने यहां राजेंद्र सिंह के घर की बाउंड्रीवाल तोड़ दी और आंगन में घुसकर घर के पास बोई मक्का की फसल चट कर दी। दरअसल हाथियों की नजर धान व मक्का की फसल पर है। आए दिन हाथी खेतों में घुसकर धान की फसल को बर्बाद कर रहे हैं, जिससे काश्तकार न केवल परेशान हैं, बल्कि जानमाल के नुकसान का खतरा भी बना हुआ है।



ग्रामीणों ने बताया कि शाम ढलते ही हाथी खेतों की तरफ रूख कर जाते हैं। हाथी एक बार में ही कई बीघा फसल बर्बाद कर देते हैं। वहीं क्षेत्र पंचायत सदस्य ज्योति जुगलान ने दूरभाष पर पार्क निदेशक को हाथी के बढ़ते उत्पात की जानकारी दी। उन्होंने पार्क निदेशक से रात्रि सुरक्षा प्रहरी रखे जाने की मांग की। उन्होंने यह भी बताया कि बीते वर्ष छह व्यक्तियों को सुरक्षा प्रहरी तैनात किया गया था, इससे जनता को काफी राहत मिली। लेकिन बाद में इन रात्रि गस्त श्रमिकों को हटा दिया गया। बार बार विभाग को अवगत कराने के बाद भी विभाग ने अब तक ऐसा कोई पुख्ता सुरक्षा इंतजाम नहीं किया, जिससे ग्रामीणों को राहत मिल सके। विभाग की लापरवाही का खामियाजा जनता को भुगतना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि हाथी के रिहायशी क्षेत्र में आने से जान- माल का खतरा भी बना हुआ है। विदित हो कि यह क्षेत्र गुलदार प्रभावित क्षेत्र भी है। क्षेत्र पंचायत सदस्य ने चेतावनी दी हैं कि यदि जल्द ही कोई सकारात्मक कार्रवाई नहीं की गई तो जनहित में विभाग के खिलाफ ग्रामीण आंदोलन करने को बाध्य होंगे। एवं किसी भी अप्रिय घटना की पूर्ण जवाबदेही पार्क प्रशासन की होगी।

खाई और ऊर्जा तारबाड़ है जरूरी

राजाजी पार्क से सटे खेतों में न केवल हाथी बल्कि सुंवर, नीलगाय, हिरन आदि जंगली जानवर भी फसल को नुकसान पहुंचाते हैं। इसकी रोकथाम के लिए जंगल की सीमा पर खाई खोदना, ऊर्जा तारबाड़ लगाना व प्रकाश की व्यवस्था करना जरूरी है। ऊर्जा तारबाड़, सोलर लाइट के लिए पूर्व में भी मुख्य वन संरक्षक राजीव भरतरी एवं पार्क निदेशक को अवगत कराया गया है।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: