डीएम के निर्देशों पर जागा प्रसाशन,सौंग नदी बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का किया संयुक्तदल ने निरीक्षण

डीएम के निर्देशों पर जागा प्रसाशन,सौंग नदी बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का किया संयुक्तदल ने निरीक्षण

ऋषिकेश।जिला गंगा सुरक्षा समिति की देहरादून में हुई बैठक में खदरी गाँव के खादर के क्षेत्र में सौंग नदी की बाढ़ से किसानों की भूमि के कटाव का मामला नामित सदस्य पर्यावरणविद समाजसेवी विनोद जुगलान द्वारा उठाये जाने के साथ ही बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी डॉ आर राजेश कुमार नेत्वरित संज्ञान लेते हुए सिंचाई विभाग को निर्देशित किया था कि उक्त संवेदनशील स्थानों की पहचान कर संयुक्त निरीक्षण के बाद सुरक्षा व्यवस्था मुक्कमल की जाए।जिलाधिकारी के निर्देशों के अनुपालन में सिंचाई विभाग राजस्व विभाग व वन विभाग सहित जिला गंगा सुरक्षा समिति के सदस्यों के संयुक्तदल ने खादर के बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का दौरा किया।जिसमें पाया गया कि सौंग नदी में पिछले सप्ताह अचानक हुई जल स्तर की बृद्धि के कारण बाढ़ का पानी खेतों की ओर बढ़ गया है जिससे न केवल खेतों को नुकसान हो रहा है बल्कि वन्यजीवों से सुरक्षा को बनाई गई हाथी खाई समेत सौर ऊर्जा बाड़ भी क्षतिग्रस्त हुई है।


सिंचाई विभाग कर सहायक अभियन्ता अनुभव नौटियाल का कहना है कि निरीक्षण की रिपोर्ट बनाकर प्रसाशन को भेजी जाएगी साथ ही अति संवेदनशील स्थानों पर रिवर चेनेलाईजेशन सहित तकनीकी रूप से सुरक्षा प्रबन्ध किये जायेंगे।जिसमें वायर क्रेट्स और सुरक्षा स्पर भी लगाये जाएंगे।ताकि भविष्य में नदी की धारा अचानक परिवर्तित होकर किसानों के खेतों और गाँव की ओर रुख न कर सके।संयुक्तदल में सम्मिलित वन क्षेत्राधिकारी ऋषिकेश एम एस रावत ने कहा कि क्षतिग्रस्त सौर ऊर्जा बाड़ को जल्द ही ठीक कराने की व्यवस्था की जारही है ताकि किसानों को वन्यजीव संघर्ष से जूझना न पड़े।संयुक्तदल में नायब तहसीलदार विजय पाल सिंह,लेखपाल मोहमद रिजवान,सिंचाई विभाग के उपखण्ड अधिकारी अनुभव नौटियाल, अपर सहायक अभियंता दिनेश वर्मन,वन क्षेत्राधिकारी एमएस रावत,वन दरोगा स्वयम्बर दत्त कण्डवाल,वनबीट अधिकारी राजेश बहुगुणा,जिला गङ्गा सुरक्षा समिति के सदस्य विनोद जुगलान,स्थानीय निवासी अमृतम जुगलान,ललित सिंह आदि प्रमुख रूप से सम्मिलित रहे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: