सावन के सोमवार पर जलाभिषेक बेहद फलदायी- राजेंद्र नौटियाल

सावन के सोमवार पर जलाभिषेक बेहद फलदायी- राजेंद्र नौटियाल

ऋषिकेश- सावन के दूसरे सोमवार पर तीर्थ नगरी ऋषिकेश के शिवालयों में श्रद्धालु उमड़ पड़े। बम-बम भोले, हर-हर महादेव के जमकर जयकारे लगे। भक्तों ने शिवलिंग का जलाभिषेक किया। सुबह चार बजे से शिव मंदिरों में भक्तों का आगमन शुरू हो गया था। गंगाजल, दूध, बेलपत्र, धतूरा, फल-फूल आदि से भी भक्तों ने शिवलिंग का अभिषेक किया। श्रद्धालुओं में युवतियां और महिलाएं भी शामिल रहीं। कई शिवभक्तों ने व्रत रखकर विशेष पूजा, रूद्राभिषेक आदि का अनुष्ठान भी किया।


पवित्र श्रावण मास के दूसरे सोमवार पर पूजा अर्चना के लिए देवभूमि ऋषिकेश के प्राचीनतम चन्द्रेश्वर महादेव, सोमेश्वर महादेव और वीरभद्रेश्वर महादेव मंदिर सहित तमाम शिवालयों में सुबह से ही जलाभिषेक शुरू हो गया। सावन के दूसरे सोमवार को मंदिरों में शिव का जलाभिषेक करने के लिए सुबह से ही कतार लग गई। महादेव के जयकारों से शिवालय गूंज रहे थे। विभिन्न शिवालयों व देवालयों में दिनभर भक्तों की भीड़ रही। शहर के सभी शिव मंदिरों में स्थापित शिवालयों को भव्य ढंग से सजाया गया। मंदिर में दो गज की दूरी और मास्क के नियम को लेकर व्यवस्था बनाने के लिए प्रशासन ने उचित प्रबंध किए थे। शहर के प्रमुख ज्योतिषाचार्य पंडित राजेंद्र नौटियाल ने बताया कि शिवजी को सोमवार बेहद पसंद है। वैसे तो पूरा सावन माह ही बहुत पवित्र माना जाता है लेकिन सावन माह के सोमवार का विशेष महात्व है। सावन के सोमवार पर आस्था पूर्वक जलाभिषेक करने वाले भक्तों की महादेव मनोकामना पूर्ण करते हैं।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: