गंगा परिक्षेत्र में पौधरोपण कर किया प्रकृति का श्रंगार

गंगा परिक्षेत्र में पौधरोपण कर किया प्रकृति का श्रंगार

ऋषिकेश-वीरभद्र वन बीट कक्ष संख्या दो डी में स्थापित प्राण वायु वाटिका में दिव्यांग सेवा को समर्पित सक्षम ऋषिकेश की महिला प्रमुख ललिता उनियाल ने पर्यावरण विद विनोद जुगलान के साथ मिलकर नीम और पीपल के पौधे रोपित किये।उन्होंने कहा पर्यावरण संरक्षण हम सबका कर्तव्य है।उन्होंने प्योर ऑक्सी गार्डन में पौधों के संरक्षण की व्यवस्था देखते हुए हर्ष व्यक्त करते हुए कहा कि हर साल बड़ी संख्या में संस्थाओं की ओर से किये जाने वाले पौधा रोपण में भी इसी प्रकार पौधों की सुरक्षा के लिए तारबाड़ लगाई जानी चाहिए तथा पौधरोपण के पश्चात कम से कम पाँच साल तक सुरक्षा कर्मी नियुक्त किये जाने चाहियें।जिस प्रकार प्योर ऑक्सी गार्डन में सुरक्षा व्यवस्थाएं स्थापित की गई हैं।



वाटिका के पर्यावरण संरक्षक समाजसेवी विनोद जुगलान ने बताया कि लगभग डेढ़ हेक्टेअर भूमि पर डेढ़ हजार से अधिक औषधीय और अधिक ऑक्सीजन प्रदान करने वाले पौधे लगाए गए हैं जिसको चारों ओर से तारबाड़ कर सुरक्षित कर सुरक्षा कर्मी नियुक्त किया गया है।तथा अभी यहाँ बर्षात बाद प्रकाश स्तम्भ और बायोशौचालय की व्यवस्था भी की जानी है।वन्य जीवों से सुरक्षा को सौर ऊर्जा बाड़ लगाने पर विचार किया जा रहा है।मौके पर ललिता उनियाल,अमृतम जुगलान,वनकर्मी मनोज कुमार, भोला,सुरक्षा कर्मी सुरेश कुमार,रितेश कुमार,विकास सिलस्वाल,पूनम बसलियाल सिलस्वाल,अखिल भण्डारी आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: