योग से प्राप्त होती है आलोकिक ऊर्जा-डॉ माहेशवरी

योग से प्राप्त होती है आलोकिक ऊर्जा-डॉ माहेशवरी

ऋषिकेश-प.ल.मो. शर्मा परिसर श्री देव सुमन ऊत्तराखण्ड विश्वविद्यालय के योग विज्ञान के द्वारा आयोजित वर्चुवल साप्ताहिक योग व्याख्यान माला के सप्तम दिन अंतरष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर योग अभ्यास का सत्र रखा गया।


सोमवार को विश्व योग दिवस पर आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम में श्री देव सुमन उत्तराखंड विश्विद्यालय के प्रभारी कुल सचिव डॉ एम एस रावत , पूर्व निदेशक उच्च शिक्षा डॉ एन पी माहेश्वरी, परिसर के प्राचार्य प्रो पंकज पंत, योग विभाग के समन्वयक डॉ अजय उनियाल, प्रो सुषमा गुप्ता,डॉ वीरेंद्र गुप्ता,डॉ अनिल, डॉ गुलशन कुमार ढींगरा,डा दयाधर दीक्षित आदि के साथ अनेको योग जिज्ञासुओं ने प्रतिभाग किया। डॉ माहेशवरी ने अपने उद्वबोधन मे कहा कि योग प्रकृति द्वारा दिया गया एक अनमोल उपहार है। योग करने से हमारा शरीर का प्रत्येक भाग सुरक्षित रहता है। नियमित योग करने से हमारा शरीर निरोगी रहता है।योग करके हम अपने हर असंभव कार्य को आसानी से कर सकते है। योग अभ्यास के सत्र में महाविद्यालय की नेहा कोटियाल एवं नंदिता की उल्लेखनीय भूमिका रही।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: