पेड़ पौधे प्रकृति की अनुपम धरोहर -डॉ राजे सिंह नेगी

पेड़ पौधे प्रकृति की अनुपम धरोहर -डॉ राजे सिंह नेगी

ऋषिकेश-पिता उस वटवृक्ष के समान है जो भले ही फल ना दे परंतु उसकी छांया सदैव शीतलता देती है।उक्त विचार अंतरराष्ट्रीय गढवाल महासभा के अध्यक्ष डा राजे सिंह नेगी फादर्स डे के अवसर पर हरिपुर कलां के बिरलाफार्म क्षेत्र में पौधारोपण कार्यक्रम के उपरांत व्यक्त किए।


उन्होंने कहा कि वृक्ष हमारे जीवन में कितने उपयोगी हैं। यह सच किसी से छिपा नहीं है। वास्तव में यह धरती का गहना हैं और प्रकृति का श्रंगार करते हैं। धरती पर हरियाली इनकी वजह से है। मौसम, जलवायु, बारिश भी इन पेड़ों की देन है। यह हमें प्राणवायु देने के साथ ही पर्यावरण में मौजूद तमाम जहरीली गैसों को ग्रहण कर हमें शुद्ध आक्सीजन की पूर्ति करते हैं। अगर पेड़ न हों तो जीवन की कल्पना ही नहीं की जा सकती।उन्होंने कहा कि प्रकृति की अनुपम धरोहर पेड़ों को लेकर लोगों में जानकारी का अभाव है। इसके चलते इनके ऊपर अत्याचार कर आरी चलाई जा रही है। इनका मानव जीवन में कितना महत्व है। प्रत्येक व्यक्ति को इसके बारे में समझना होगा।प्रत्येक मनुष्य को प्रतिवर्ष एक-एक पौधा लगाकर उनके संरक्षण का बीड़ा उठाना होगा। तभी हम प्रकृति की रक्षा कर पायेंगे।पौधरोपण करने वालों में सत्यमेव जयते समिति के अध्यक्ष अनिल जोशी, ग्राम पंचायत सदस्य विनायक गिरी,आचार्य दिनेश चंद्र थपलियाल,सुनील जुगरान,राजन बडोनी,विक्रांत भारद्वाज,राहुल चमोली आदि शामिल थे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: