टोल प्लाजा के मामले में विधानसभा अध्यक्ष ने जनता को किया है गुमराह-राजपाल खरोला

टोल प्लाजा के मामले में विधानसभा अध्यक्ष ने जनता को किया है गुमराह-राजपाल खरोला

ऋषिकेश-प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव राजपाल खरोला ने आज नेपाली फार्म धरना स्थल पर एक लाइव डिबेट कार्यक्रम के माध्यम से क्षेत्रीय विधायक विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल को बहस की खुली चुनौती दी।


कांग्रेस नेता खरोला ने जानकारी देते हुए बताया उनके द्वारा केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के कार्यालय से एक पत्र रिसीव करा कर लाया गया है जिसमे छिददरवाला टोल प्लाजा के विषय में गडकरी से निवेदन किया गया है कि टोल प्लाजा को ना बनाया जाए ।खरोला, ने कहा विगत 2 दिन पूर्व क्षेत्रीय विधायक प्रेमचंद अग्रवाल द्वारा उनके क्षेत्रीय कार्यालय में उनके द्वारा 45 मिनट तक ऋषिकेश के विषय में कुछ लोगों को जानकारियां दी गई ।इन जानकारियों में छिददरवाला टोल प्लाजा के विषय में उनके द्वारा काफी कुछ कहा गया ।उन्होंने 24 मई से लेकर के 5 जून तक का जो ब्यौरा दिया उसमे उनके द्वारा बताया गया के टोल प्लाजा निरस्त करने के लिए उन्होंने क्षेत्रीय सांसद, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री व केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से निवेदन किया था लेकिन कही से भी से कोई भी टोल प्लाजा निरस्तीकरण का आश्वासन नहीं मिल पाया ।उसके बाद उत्तराखंड के सचिव आरके सुधांशु ने उनको आश्वासन दिया और उस आश्वासन के आधार पर उन्होंने प्रधान संगठन के लोगों को और क्षेत्रीय लोगों को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से यह कहा कि अब मैं संतुष्ट हूं और अब टोल प्लाजा नहीं बनेगा ।
खरोला, ने क्षेत्रीय विधायक प्रेमचंद अग्रवाल पर आरोप लगाते हुए कहा यदि क्षेत्रीय सांसद, मुख्यमंत्री व केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री द्वारा कोई आश्वासन नहीं दिया गया तो फिर आरके सुधांशु जैसे एक ब्यूरोक्रेट द्वारा दिए गए आश्वासन पर प्रेमचंद अग्रवाल कैसे संतुष्ट हो गए यह एक बड़ा सवाल है। इस सवाल का आज भी क्षेत्रीय विधायक के पास कोई जवाब नहीं है ।खरोला, ने प्रेमचंद अग्रवाल पर आरोप लगाते हुए कहा यदि उनकी बात में जरा सी भी सच्चाई है तो केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री गडकरी के कार्यलय से लिखित में टोल प्लाजा निरस्तीकरण का आदेश लेकर के आते ।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: