पहाड़ में कोरोना संक्रमितो के लिए ऑक्सीजन मेन बना युवा ईशान भंडारी!

पहाड़ में कोरोना संक्रमितो के लिए ऑक्सीजन मेन बना युवा ईशान भंडारी!

ऋषिकेश-आसमान से बरस रही आफत की बारिश और आपदा के खतरों के बीच उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में कोरोना महामारी ने पिछले एक पखवाड़े से जबरदस्त कोहराम मचा रखा है।पहाड़ों में गंभीर होती स्थितियों पर सरकार के साथ विभिन्न क्षेत्रों में समाजसेवियों ने भी खुद
को कोरोना की जंग लड़ रहे लोगों के लिए आक्सीजन,दवाईयों एवं संक्रमित परिवारों के भोजन का इंतजाम करने के लिए झौंक रखा है। वैश्विक महामारी की चपेट में आये लोगों की जिंदगी बचाने के लिए युवा पीढी भी आगे आ रही है। लक्ष्मण झूला तपोवन क्षेत्र निवासी 27 वर्षीय ईशान भंडारी का नाम भी उन युवाओं में शामिल है जिसने आपदा के इस समय अपने तमाम संसाधनों का प्रयोग उत्तराखण्डी लोगों की जिंदगी बचाने में लगा रखा है।


पेशे से तपोवन क्षेत्र के प्रमुख होटल
व्यवसायी ईशान अपने पिता समाजसेवी नरेंद्र सिंह भंडारी की प्रेरणा से बागेश्वर में तीस ऑक्सीजन सिलेंडर व फ्लो मीटर ,चंपावत में 20 ऑक्सीजन सिलेंडर व कच्चा राशन , पौड़ी में कोरोनावायरस पेशेंट के लिए 20 ‘सिलेंडरों की व्यवस्था करवा चुके हैं। इससे पूर्व उनके द्वारा आज 80 KG ऑक्सीजन 70 सिलेंडरों के जरिए के मुनि की रेती स्थित कोविड सैंटर पर भिजवाई गई थी जिससे जिंदगी बचाने में चिकित्सक कामयाब हो पाये। उन्होंने बताया कि पहाड़ में वैश्विक महामारी से गंभीर होती स्थिति को देखते हुए पिता व अन्य सहयोगी मित्रों के सुझाव और सहयोग के बाद उनके द्वारा सेलवस केयर का गठन कर संक्रमित लोगों तक मदद पहुंचाने की मुहिम शुरू की गई थी जो कि निरंतर जारी है। युवा समाजसेवी ईशान भंडारी के अनुसार कोरोना से जंग में हर किसी को आगे आने की आवश्यकता है। वह नहीं चाहते कि किसी का पुत्र, पत्नी, भाई एवं माता-पिता इस दर्द का अहसास करें।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: