परमार्थ गंगा तट पर प्रतिदिन संतों और निराश्रितों को कराया जा रहा है भोजन

परमार्थ गंगा तट पर प्रतिदिन संतों और निराश्रितों को कराया जा रहा है भोजन

ऋषिकेश- कोरोनाकाल में परमार्थ निकेतन आश्रम द्वारा परमार्थ गंगा तट पर संतों, भिक्षुओं, जरूरतमंदों और निराश्रितों के भोजन की व्यवस्था चल रही है। परमार्थ निकेतन के अध्यक्ष स्वामी चिदानन्द सरस्वती महाराज और एसडीएम मनीष कुमार सिंह ने बड़े प्रेम से सभी को भोजन परोसा।एसडीएम ने कहा कि कोरोना काल से पहले संत, भिक्षु, जरूरतमंद और निराश्रित लोग भोजन के लिये आश्रमों पर आश्रित रहते थे परन्तु इस समय सब बंद होने के कारण उनके सामने भोजन की सबसे बड़ी समस्या है ऐसे में परमार्थ निकेतन आश्रम ने परमार्थ गंगा तट पर भोजन की व्यवस्था की है। वास्तव में इस समय यही सच्ची सेवा है इस हेतु उन्होंने स्वामी चिदानंद का धन्यवाद किया। सभी जरूरतमदों से उन्होंने किसी को कोई कष्ट तो नहीं इसकी स्वंय पूछताछ की। उन्होंने परमार्थ कोविड केयर सेन्टर और परमार्थ घाट का भ्रमण किया तथा वहां की स्वच्छता और शान्ति को आत्मसात किया।



स्वामी चिदानन्द सरस्वती महाराज ने कहा कि कोरोना संकट की इस घड़ी में यहां पर रहने वाले सभी निराश्रितों, साधु-संतों एवं भिक्षुओं को भोजन कराया जायेगा। यहां पर प्रतिदिन सभी के लिये भोजन की व्यवस्था की गयी है ताकि कोई भी भूखा न रहे। परमार्थ निकेतन द्वारा निराश्रित प्राणियों, पशुओं, और पक्षियों हेतु चारे और दाने की भी व्यवस्था की गयी है। साथ ही पर्यावरण को शुद्ध रखने तथा विश्व शान्ति हेतु यहां पर निरन्तर यज्ञ किया जा रहा है।
इस अवसर पर कोविड केयर सेन्टर में सेवारत पटवारी ब्रजभूषण , चन्द्रप्रकाश भारती , योगाचार्य विमल वधावन , आचार्य संदीप भट्ट , गंगा नन्दिनी , गुरूमीत ओबेराय , दीपक शर्मा , परमार्थ परिवार के सदस्य एवं परमार्थ गुरूकुल के ऋषिकुमार उपस्थित थे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: