जाने कहां गये वो दिन,अक्षय तृतीया पर फिर कोरोना का ग्रहण!

जाने कहां गये वो दिन,अक्षय तृतीया पर फिर कोरोना का ग्रहण!

ऋषिकेश- शहर में स्वर्ण आभूषण के खरीदारों से दिनभर गुलजार रहने वाला झंडा चौक बाजार इन दिनों कोरोना की दूसरी लहर के चलते पूरी तरह से सन्नाटे के आगोश में है।कोरोनो ने व्यापारियों को तबाह करके रख दिया है। छोटे दुकानदारों के साथ सर्राफा बाजार पर भी इसका गंभीर असर पड़ा है।धनतेरस की तरह ही अक्षय तृतीया का भी सर्राफा बाजार को बेसब्री से इंतजार रहता है, लेकिन लगातार दूसरी वर्ष अक्षय तृतीया पर कोरोना का ग्रहण लग रखा है। पिछले वर्ष लॉकडाउन की वजह से अक्षय तृतीया पर दुकानें बंद थीं और इस वर्ष 18 मई तक कोरोना कफ्र्यू रहने से अक्षय तृतीया पर दुकानें नहीं खुलेंगी।



उल्लेखनीय है कि वर्ष 2019 तक बाजारों में अक्षय तृतीया के दिन तमाम ऑफर दिए जाते थे। सर्राफा कारोबारी भी इसके लिए काफी पहले से तैयारी करने लगते थे ताकि अक्षय तृतीया पर ग्राहकों को दिखाने के लिए जेवर कम न हों। पिछले वर्ष कोरोना के चलते लॉकडाउन लगा था ।इस वर्ष कोरोना की दूसरी लहर से कारोबारी बेहाल हैं।फिलहाल उनका फोकस जिंदगी बचाने की जद्दोजहद मे लगा हुआ है।अक्षय तृतीया 14 मई को है। ऋषिकेश ज्वेलर्स एसोसिएशन के उपाध्यक्ष हितेंद्र पंवार ने बताया कि पिछले वर्ष लोगों में कोरोना के दौरान भी जेवर खरीदने की उत्सुकता थी, लेकिन इस बार ऐसा देखने में नहीं आ रहा है। शायद बड़ी संख्या में लोगों के बीमार होने और अपनों के निधन की वजह से ऐसा हुआ। उन्होंने बताया कि देश के आम व्यापारियों के साथ सर्राफा कारोबारियों को भी कोरोना की दूसरी लहर ने जबरदसत झटका दिया है जिससे उबरने में अब शायद वर्षों लग जाएंगे

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: