कोरोना की जंग में आई एम ए शहरवासियों के साथ- डॉ हरिओम प्रसाद

कोरोना की जंग में आई एम ए शहरवासियों के साथ- डॉ हरिओम प्रसाद

ऋषिकेश- कोरोना महामारी से हर आदमी डरा है लेकिन, इस डर के आगे ही जीत है। कोरोना से जंग जीतनी है तो एक दूसरे का ख्याल रखना ही सबसे बड़ा कर्म है। यह कहना है इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की ऋषिकेश शाखा के अध्यक्ष डॉ हरिओम प्रसाद का।



उन्होंने बताया कि आई एम ए के तमाम चिकित्सक इस कठिन समय में शहरवासियों के साथ हैं और आवश्यकता अनुसार इस वैश्विक महामारी की चुनौतियों से लड़ने में राष्ट्र हित के संकल्प के साथ अपना योगदान भी दे रहे हैं। आई एम ए के अध्यक्ष डॉ प्रसाद के अनुसार कोरोना की यह दूसरी लहर कई ज्यादा खतरनाक है।इसमें इंफेक्शन की संभावना भी बेहद अधिक है।जिससे बचाव के लिए लाँकडाउन का बेहद कढाई से पालन करना होगा।मास्क के प्रयोग एवं सोशल डिस्टेंसिंग रखने से ही कोविड 19 से बचाव संभव हो सकता है।उन्होंने शहरवासियों से रोज सुबह व्यायाम करने के साथ पोष्टिक भौजन लेने एवं इम्यूनिटी बड़ाने वाले फलों का सेवन करने के सुझाव के साथ आयुष मंत्रालय द्वारा बताए गये काढे को पीने की सलाह देते हुए कहा कि अनावश्यक रूप से कोविड-19 को लेकर खौफजदा न हो। वैक्सीनेशन को लेकर लापरवाही ना बरतें ।साथ ही, सर्दी , खाँसी , बुख़ार व साँस लेने में कोई भी तकलीफ़ हो तो तुरंत डॉक्टर से मिले।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: