चार धाम यात्रा स्थगित करने का सीएम का निर्णय परिवहन व्यवसायियों के लिए तगड़ा झटका-सुधीर राय

चार धाम यात्रा स्थगित करने का सीएम का निर्णय परिवहन व्यवसायियों के लिए तगड़ा झटका-सुधीर राय

ऋषिकेश-विश्व प्रसिद्ध चारधाम यात्रा को कोविड के प्रकोप के चलते उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत द्वारा स्थगित करने पर उत्तराखंड परिवहन महासंघ ने कढी प्रतिक्रिया जताते हुए इसे जल्दबाजी में उठाया कदम करार दिया है।



महासंघ के अध्यक्ष सुधीर राय ने एक जारी बयान में कहा कि कोविड 19 की दूसरी लहर को थामने में नाकाम रही प्रदेश सरकार ने अपनी नाकामियों पर पर्दा डालने के लिए आनन फानन में जिस प्रकार चारधाम यात्रा स्थगित किया है उससे साफ हो गया है कि सरकार की मंशा ही नही थी यात्रा चलाने की।उन्होंने कहा कि टी एस आर सरकार के यात्रा को स्थगित करने से तमाम परिवहन व्यवसायियों की उम्मीदों को तगड़ा झटका लगा है।इससे यात्रा पर पूरी तरह से निर्भर उन हजारे लोगों की आशाओं पर भी कुठाराघात हुआ है जोकि पिछले वर्ष से यात्रा रद्द होने के बाद से एक एक दिन गिनकर यात्रा के शुभारंभ होने की आस लगाए हुए थे। महासंघ के अध्यक्ष सुधीर राय के अनुसार यात्रा पर निर्भर लोगों के लिए आने वाले समय में कोविड-19 की चुनौतियों के साथ भुखमरी जैसे हालातों से जूझने की अब दोहरी चुनौतियां होगीं।उल्लेखनीय है कि गुरुवार की सुबह उत्‍तराखंड के सीएम तीरथ सिंह रावत ने चारधाम यात्रा स्थगित करने की घोषणा की है।उन्‍होंने कहा है क‍ि कपाट खुलेंगे और सिर्फ पूजा अर्चना होगी।सीएम तीरथ सिंह ने कहा क‍ि कोविड के हालात में यात्रा संभव नहीं है. आपको बता दें क‍ि आगामी 14 मई को यमुनोत्री मंदिर के कपाट खुलने के साथ चार धाम यात्रा शुरू होनी थी। प‍िछले साल भी उत्‍तराखंड सरकार ने कोरोना महामारी के चलते चार धाम यात्रा को मई में रोक द‍िया था।इसके बाद राज्य सरकार ने 1 जुलाई से श्रद्धालुओं के लिए चार धाम यात्रा शुरू की थी।जुलाई के अंतिम सप्ताह में राज्य सरकार ने कुछ शर्तों के साथ अन्य राज्यों के श्रद्धालुओं को चार धाम यात्रा पर आने की अनुमति दी थी।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: