चमोली में ग्लेशियर टूटने की घटना से रातभर सर्तक रहा प्रशासन!

चमोली में ग्लेशियर टूटने की घटना से रातभर सर्तक रहा प्रशासन!

ऋषिकेश- उत्तराखंड के चमोली जिले में जोशीमठ सेक्टर के सुमना क्षेत्र में हिमखंड टूटने के बाद ऋषिकेश में प्रशासन अलर्ट मोड पर रहा। गंगा के तटीय इलाकों में किसी भी संभावित खतरे से निपटने के लिए मध्य रात्रि तक अभियान चलाकर वहां रह रहे लोगों को आवश्यक जानकारियां दी गई।गौरतलब है कि सुमना टू के बीआरओ शिविर में हिमस्खलन हुआ था। जिससे शिविर तबाह हो गया था। शिविर में सड़क निर्माण में जुटे मजदूर, मशीन चालक, अधिकारी कर्मचारी मौजूद थे। परंतु सेना का कहना है कि अभी कई लोग लापता होने की सूचना पर रेस्क्यू जारी है।


उक्त घटना का असर कुम्भ क्षेत्र ऋषिकेश में भी देखने को मिला।किसी भी तरह के खतरे से निपटने के लिए यहां के तटीय इलाकों में रह रहे लोगों को संभावित खतरे को लेकर अभियान के माध्यम से सचेत किया गया।रात्रि करीब 11 बजे चमोली जिले में ग्लेशियर टूटने की सूचना के मद्देनजर घाट चौकी इंचार्ज उत्तम रमोला ,कुम्भ चौकी इंचार्ज नवीन नेगी के नेतृत्व में जल पुलिस के जवानों द्वारा त्रिवेणी घाट ,मायाकुंड और गंगा से सटे इलाको में जनता को अलर्ट किया गया।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: