विश्व हेरिटेज दिवस पर आयोजित ऑनलाइन संगोष्ठी में जुटी देश की नामचीन हस्तियां!

विश्व हेरिटेज दिवस पर आयोजित ऑनलाइन संगोष्ठी में जुटी देश की नामचीन हस्तियां!

ऋषिकेश- वर्ल्ड हेरिटेज दिवस पर ऑनलाइन प्लेटफॉर्म में आयोजित संगोष्ठी में देश के विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े विशेषज्ञों ने भारतीय संस्कृति को आगे बढ़ाने का संकल्प लिया।इस मौके पर देश के तमाम स्मारकों के संरक्षण की ऑनलाइन शपथ दिलाई गई। इस दिन को मनाने के पीछे का उद्देश्य दुनिया भर की मानव सभ्यता से जुड़े ऐतिहासिक स्थलों के संरक्षण करना और लोगों को इसके लिए जागरूक करना है।


यूनाइटेड नेशन के आह्वान पर एशियन फिल्म अकैडमी के बैनर तले विश्व धरोहर दिवस मनाया गया। इस मौके पर ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर आयोजित हुई गोष्टी में देशभर की नामचीन हस्तियों ने ऐतिहासिक स्मारकों के संरक्षण की जागरूकता पर जोर दिया। गोष्टी में शिरकत कर इस ऐतिहासिक आयोजन के गवाह बने जीआईसी इंटरनैशनल के चेयरमैन गौरव गोयल ने बताया कि ऐतिहासिक धरोहरों के मामले में दुनिया में हिंदुस्तान छटे नंबर पर है। विडंबना देखिए देश में ऐसी अनेकों धरोहरें ऐसी हैं जिनके इतिहास को संजोकर समेटने की कोशिश ही नहीं की गई। ऐसे यदि किया जाता तो चीन को पछाड़कर धरोहरों के मामले में हिंदुस्तान आज नंबर वन पर होता। जी आई सी इंटरनेशनल के चेयरमैन गौरव गोयल के अनुसार महान भारतीय संस्कृति की विरासत को आगे बढ़ाने में हेल्दी फूड एक महत्वपूर्ण कड़ी साबित हो सकता है। इस पर सरकार फोकस करने की जरूरत है।उन्होंने बताया कि इंटरनेशनल चेंबर ऑफ मीडिया एंड एंटरटेनमेंट के प्रेसिडेंट संदीप मारवाह के दिशा निर्देशन में एक टीम गठित कर इतिहास के स्वर्णिम अक्षरों में लिखे जाने से वंचित रह गई भारतीय धरोहरों की तमाम जानकारियां जुटाकर उसका डाटा एकत्र किया जायेगा और जरुरत पड़ी तो वो तमाम महत्वपूर्ण जानकारियां भारतीय पुरातन विभाग से भी सांझा की जायेंगी। ऑनलाइन संगोष्ठी में इंटरनेशनल चेंबर ऑफ मीडिया एंड एंटरटेनमेंट के प्रेसिडेंट संदीप मारवाह,राजपूताना फैमिली राजस्थान की रानी शोभल सिंह सहित रूट स्किल संस्था की भविशा और प्रिया ने भी सहभागिता कर विश्व धरोहर दिवस पर अपने महत्वपूर्ण विचार रखें।

.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: