……….आ मां आ तुझे दिल ने पुकारा

……….आ मां आ तुझे दिल ने पुकारा

ऋषिकेश-चैत्र नवरात्र के पांचवें दिन शनिवार को मां दुर्गा के पंचम स्वरूप स्कंदमाता की भक्तों ने विधि विधान से पूजा की। देवी मंदिरों में महिलाओं ने देवी मां के गीत गाए। भगवान स्कंद कुमार (कार्तिकेय) की माता होने के कारण दुर्गा जी के इस पांचवें स्वरूप को स्कंदमाता नाम मिला। भगवान स्कंद जी बाल रूप में माता की गोद में बैठे होते हैं। नवरात्र महोत्सव के पांचवें दिन शीशम झाड़ी स्थित कात्यायनी मंदिर में भक्तों का तांता लगा रहा। मंदिर संस्थापक गुरविंदर सलूजा ने विशेष आरती के साथ मां की प्रतिमा पर लाल चुनरी ओड़ाई।इस दौरान मंदिर में आयोजित भजन कार्यक्रम में दिल्ली के भजन गायक गगन ने अपनी सूरमयी प्रस्तूतियो से कार्यक्रम में चार चांद लगा दिए।



देशभर के साथ चैत्र नवरात्र की पंचमी पर तीर्थ नगरी में स्कंदमाता की पूजा हुई। देवी मंदिरों में महिला-पुरुष श्रद्धालुओं की भीड़ रही। नवरात्र के पांचवें दिन शनिवार को ऋषिकेश के देवी मंदिरों में मां के पांचवे स्वरूप स्कंद माता की आराधना हुई। लोगों ने माता के दर्शन कर समृद्धि का आशीर्वाद लिया। शहर के तमाम मंदिरों में देवी मां के दर्शन के लिए सुबह से ही भक्तों का आना-जाना लगा रहा। घंटे घड़ियालों की गूंज के बीच जगह-जगह मंदिरों में देवी सप्तशती पाठ का आयोजन किया गया। श्री दुर्गा शक्ति मंदिर में देवी मां का नवरात्र उत्सव प्रशासन द्वारा निर्देशित कोविड-19 के दिशा निर्देशों के अनुसार हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है।
धार्मिक आयोजन में मंदिर समिति अध्यक्ष संदीप मल्होत्रा ,महासचिव पंडित ज्योति शर्मा ,पंकज चावला ,अनिल विरमानी ,सतीश कक्कड़ ,पंकज जुनेजा, रमन नारंग ,जितेंद्र आनन्द ,अमृतलाल नागपाल ,राजेश रावल, साहिल दरगन, प्रदीप कोहली ,मुनीश छाबड़ा आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: