जीएसटी के नियमों में बदलाव को लेकर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल ने दिया धरना

जीएसटी के नियमों में बदलाव को लेकर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल ने दिया धरना

ऋषिकेश-जी एस टी के नियमों में बदलाव को लेकर प्रदेश उधोग व्यापार मंडल ने गांधी स्तम्भ के समीप धरना देकर अपना आक्रोश जताया।अपने पूर्व घोषित कार्यक्रम अनुसार व्यापार मंडल से जुड़े तमाम व्यापारी त्रिवेणी घाट पर एकत्र हुए और कोरोना गाईडलाईन का पालन करते हुए शांतिपूर्ण तरीके से धरना दिया।धरने के दौरान जीएसटी में हुए बदलाव की पुरजोर शब्दों में निंदा की गई।इसकी विसंगतियों और काला कानून समाप्त किए जाने की मांग को लेकर उपजिलाधिकारी के माध्यम से प्रधानमंत्री को एक ज्ञापन भी प्रेषित किया गया।





​banner for public:Mayor

इससे पूर्व धरना स्थल पर प्रदशर्नकारियों को संबोधित करते हुए ऋषिकेश उधोग व्यापार मंडल के अध्यक्ष पंकज गुप्ता ने कहा कि एक जुलाई वर्ष 2017 से जीएसटी लागू के बाद से देश के करोड़ों व्यापारियों पर जो गलत प्रभाव पड़ा है उसे अब तक व्यापारी भुगत रहे हैं। जटिल और विसंगति पूर्ण जीएसटी को बिना व्यापारियों से सलाह कर लागू कर दिया गया। इसका व्यापारी लगातार विरोध करते चले आ रहे हैं। प्रतिदिन एक नया प्रावधान लागू कर दिया जाता है जिसका क्रियान्वयन करना व्यापारियों के लिए बेहद मुश्किल भरा है। आरोप लगाया कि वन नेशन वन टैक्स का वादा करके भाजपा सरकार ने अपने खजाने को भरने के लिए केन्द्र सरकार ने जल्दबाजी में बगैर तैयारी बगैर सलाह के जीएसटी को लागू करके करोड़ों व्यापारियों को बर्बाद कर दिया है। मांग की गई कि जीएसटी के वर्तमान स्वरूप को रद्द करके व्यापारी प्रतिनिधियों से सलाह करने के बाद ही उचित बदलाव करके नया कानून बनाया जाए। महामंत्री हर्षित गुप्ता के संचालन में चलें धरने के दौरान संरक्षक केवल कृष्ण लांबा,कपिल गुप्ता, रामकुमार कश्यप , सौरभ अग्रवाल , सौरभ गर्ग, हरिमोहन गुप्ता , नारायण कक्कड़ ,प्रदीप कोहली ,अभिषेक गुप्ता, हरीश गावड़ी, शरद तायल,अखिलेश धीमान,आदि प्रमुख रूप से मोजूद रहे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: