सिर्फ सफाई कर्मचारी के जिम्मे सफाई की जिम्मेदारी डालकर न करें अपने कर्तव्यों की इतिश्री-अनिता ममगाई

सिर्फ सफाई कर्मचारी के जिम्मे सफाई की जिम्मेदारी डालकर न करें अपने कर्तव्यों की इतिश्री-अनिता ममगाई

झाड़ू थामकर महापौर ने दिया स्वच्छता का संदेश

स्वच्छता सर्वेक्षण में गुरुवार को चला महा स्वच्छता अभियान

ऋषिकेश-नगर निगम महापौर अनिता ममगाई ने कहा कि संपूर्ण स्वच्छता के सपने को तभी साकार किया जा सकता है, जब हर व्यक्ति अपने आसपास स्वयं स्वच्छता बनाए रखने का संकल्प लेगा।




​banner for public:Mayor

उक्त विचार महापौर ने गुरुवार को वार्ड संख्या 5 और 6 में महा स्वच्छता अभियान का शुभारंभ करते हुए व्यक्त किए। उन्होंने झाडू लगाकर लोगों को स्वच्छता का संदेश भी दिया। उन्होंने कहा कि स्वच्छता अभियान महात्मा गांधी ने शुरू किया था, जिसे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे बढ़ाया और हर देशवासी से आह्वान किया कि अगर एक व्यक्ति स्वच्छता के लिए एक कदम आगे बढ़ाएगा तो देश सवा सौ करोड़ कदम स्वच्छता की ओर बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि केवल सफाई कर्मचारियों के जिम्मे सफाई की जिम्मेदारी डालकर हमें इतिश्री नहीं करनी है, बल्कि हम स्वयं स्वच्छता के इस कार्य में योगदान दें। इसके लिए हम इधर-उधर कचरा ना डालें तथा खुले में शौच न करें। क्योंकि इससे एक ओर जहा हमारा शहर गंदा होता है, वहीं दूसरी ओर इस गंदगी से मक्खी व मच्छर पैदा होकर डेगू व मलेरिया जैसी घातक बीमारियों को जन्म देते हैं।महापौर ने कहा कि कुछ लोग अपने घरों की सफाई करके कचरा बाहर खुले में डाल देते है और यह सोचते है कि हमारा घर तो साफ हो गया, लेकिन वही बाहर पड़ा कचरा हमारे पैरों के साथ चिपककर वापस हमारे ही घर में आ जाता है। बाहर खुले में पड़े कचरे से बदबू आती है, जिससे पर्यावरण प्रदूषित होता है तथा उस कचरे से पैदा हुए मक्खी व मच्छर हमारे घरों में आकर बीमारिया फैलाते है। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि हमें यह धारणा बदलनी होगी कि सफाई का कार्य केवल सफाई कर्मचारियों की जिम्मेदारी है। इसके लिए हम सभी को साथ मिलकर आगे आना होगा तथा दूसरों को भी इस बारे में जागरूक करना होगा, तभी स्वच्छता सर्वेक्षण में अव्वल आने के सपने को साकार किया जा सकेगा।इस दौरान नगर स्वच्छता के ब्रांड एम्बेसडर अशोक बेलवाल, बी एन तिवारी, अनवर,गुलाब वर्मा, चुन्नू लाल,राजेश गुप्ता, कमलेश गुप्ता,सफाई निरीक्षक अभिषेक मल्होत्रा, धीरेंद्र सेमवाल आदि प्रमुख रूप से शामिल थे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: