व्यापार मंडल के चुनाव में मंडरा रहा है फिक्सिंग का साया!

व्यापार मंडल के चुनाव में मंडरा रहा है फिक्सिंग का साया!

ऋषिकेश- पिछले कई माह से लगातार टलते चले आ रहे नगर उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के बहुप्रतीक्षित चुनाव पर फिक्सिंग का साया मंडराने लगा है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भाजपा का एक कद्दावर नेता चुनावी रणक्षेत्र में उतरने के बजाए आपसी रजामंदी से अध्यक्ष -महामंत्री पद पर सहमति बनाने की कोशिशों में जुटा हुआ है। इसके लिए बकायदा अध्यक्ष एवं महामंत्री पद पर ढेड- ढेड साल के कार्यकाल का फार्मूला तयकर टेबल टॉक के जरिए संभावित प्रत्याशियों की नब्ज टटोलने की कवायद भी शुरू हो चुकी है। व्यापार मंडल के चुनाव में अगर नूरा कुश्ती का यह पेंतरा परवान चड़ा जिसकी की सुगबुगाहट शुरू हो चुकी है तो उन करीब प्रंदह सौ व्यापारियों के साथ एक बड़ा धोखा होगा जिन्होंने आम चुनाव के लिए नगर उधोग व्यापार मंडल की सदस्यता ग्रहण की है। उल्लेखनीय है कि विगत वर्ष मार्च माह में नगर उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के अध्यक्ष जयदत्त शर्मा का आकस्मिक निधन हो गया था। उनके निधन के बाद जून से लेकर सितंबर माह तक हर हाल में व्यापार मंडल के चुनाव संपन्न होने थे जोकि लगातार टलते रहे। पहले 17 फरवरी को चुनावी डेट की घोषणा की सुगबुगाहट शुरू हुई तो अब 7 मार्च को चुनावी तिथि फाइनल बताई जा रही है। हालांकि इन सबके बीच व्यापार मंडल के चुनाव ना कराकर आपसी सहमति से अध्यक्ष महामंत्री पद चुनकर उनके कार्यकाल तय कर लेने की कवायद भी यहां पर शुरू हो गई है। दिलचस्प यह भी है कि नगर उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के चुनाव में अध्यक्ष व महामंत्री पद पर कुल 4 प्रत्याशियोंं ने ही चुनावी बिगुल फूंंका है।जिसमेेंं कार्यकारी अध्यक्ष संजय व्यास व महामंत्री ललित मोहन मिश्रा का नाम अध्यक्ष पद पर और जिला उपाध्यक्ष रवि कुमार जैन व युवा व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष प्रतीक कालिया का नाम महामंत्री पद पर तय माना जा रहा है। लगे हाथों बताते चलें कि पिछली मर्तबा 36 एसोसिएशन के 72 मतदाताओं ने अपने मत का प्रयोग किया था। लेकिन इस बार मजबूत व्यापार मंडल का गठन कराए जाने के लिए पूर्व नगरपालिका क्षेत्र के व्यापारियों को व्यापार मंडल का सदस्य बनाकर आम चुनाव कराने का शिगूफा छोड़ा गया था। जिसके लिए बकायदा जोर शोर से कई दिनों तक सदस्यता अभियान भी चलाया गया था जिसमें करीब 15 सौ नए सदस्य बनाकर उन्हें व्यापार मंडल से जोड़ा गया। इन सब के बीच चुनाव को लेकर व्यापार मंडल में चल रही नूरा कुश्ती की सुगबुगाहट से यहां के व्यापारी भी खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे और अगर आम चुनाव के बजाय टेबल टॉक में प्रत्याशियों का भाग्य तय हुआ तो व्यापार मंडल की विश्वसनीयता पर तो इसका गंभीर असर पड़ेगा ही साथ ही इसका लाभ आने वाले समय में सीधे-सीधे व्यापार मंडल की दूसरी संस्था ऋषिकेश व्यापार महासंघ को मिलना भी तय है।





​banner for public:Mayor

जिलाध्यक्ष कहिन

प्रांतीय व्यापार उधोग मंडल के जिलाध्यक्ष नरेश अग्रवाल का कहना है कि सदस्यता सूची को फाईनल कराने का कार्य तेजी के साथ संपन्न कराया जा रहा है। 19 या 20 फरवरी को चुनावी कार्यक्रम की घोषणा कर दी जाएगी। उन्होंने बताया कि मार्च माह के पहले सप्ताह में चुनाव संपन्न कराए जाएंगे।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: