देश का संविधान भारतीय संस्कृति का गौरव ग्रंथ-भगतराम कोठारी

देश का संविधान भारतीय संस्कृति का गौरव ग्रंथ-भगतराम कोठारी

ऋषिकेश-गन्ना एवं चीनी विकास उद्योग बोर्ड के अध्यक्ष राज्य मंत्री भगतराम कोठारी ने संविधान दिवस पर देश के संविधान के निर्माता डॉ भीमराव अंबेडकर को नमन करते हुए प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा कि यह हमें अधिकार देता है साथ ही कर्तव्य का बोध भी कराता है ताकि हम उसका पालन कर सकें। राज्यमंत्री कोठारी ने कहा कि, देश का संविधान नागरिकों के मौलिक अधिकार, मौलिक कर्तव्यों के निर्वहन पर आधारित हैं, क्योंकि अधिकार और कर्तव्य दोनों एक-दूसरे से निकलते हैं।


संविधान दिवस पर बृहस्पतिवार को एक जारी जारी बयान में राज्यमंत्री कोठारी ने कहा कि भारतीय संविधान विश्व के सबसे बड़े लोकतांत्रिक राष्ट्र भारत के लोकतंत्र संचालन का लिखित कानून ही नहीं है बल्कि भारतीय संस्कृति का गौरव ग्रन्थहै। उन्होंने कहा कि हमारा संविधान मानवीय अधिकारों और कर्तव्यों केे संतुलन का वैश्विक दस्तावेज है। उन्होंने संविधान दिवस पर संवैधानिक मूल्यों, नैतिकता, मर्यादा के साथ संविधान की गरिमा कायम रखने का आह्वान भी किया। उन्होंने कहा कि आज का दिन हमें राग-द्वेश एवं भेदभाव से मुक्त रहते हुए संविधान निर्माताओं की भावनाओं को सम्मान देने का है। उन्होंने संविधान दिवस पर संवैधानिक संस्थाओं का आदर करते हुए नागरिकों से यह संकल्प लेने का भी आहृवान किया कि सभी देश के नियम-कानूनों की पालना करते हुए सर्वधर्म सद्भाव के साथ भारतीय संस्कृति की गौरवशाली परम्पराओं को समृद्ध करने में अपना योगदान दे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: