प्रदेश सरकार जन भावनाओं के अनुरूप लोक पर्व इगास पर घोषित करे सार्वजनिक अवकाश- डॉ राजे सिंह नेगी

प्रदेश सरकार जन भावनाओं के अनुरूप लोक पर्व इगास पर घोषित करे सार्वजनिक अवकाश- डॉ राजे सिंह नेगी

ऋषिकेष-अंतरराष्ट्रीय गढ़वाल महासभा ने प्रदेश सरकार से उत्तराखंड के लोक पर्व इगास पर सार्वजनिक अवकाश घोषित किए जाने की मांग की है। देव भूमि उत्तराखंड की सांस्कृतिक विरासत के प्रचार प्रसार के लिए कार्य कर रहे हैं अंतरराष्ट्रीय गढवाल महासभा ने इगास पर्व पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करने की मांग जोरदार तरीके से उठाई है ।

शुक्रवार को देहरादून रोड स्थित महासभा के प्रदेश कार्यालय में आहूत बैठक में प्रदेश सरकार से जन भावनाओं के अनुरूप इस पर निर्णय लिए जाने की मांग की गई । बैठक की अध्यक्षता कर रहे महासभा के अध्यक्ष डॉ नेगी ने कहा कि उत्तराखंड निर्माण के बाद से प्रदेश की संस्कृति, पर्व,त्यौहार महोत्सव अपने प्रवाह गति से मनाये जाते रहे हैं। उत्तराखंड की संस्कृति का प्रभाव राष्ट्रीय स्तर तक यदा कदा प्रलक्षित भी होता रहता है ।इसलिये गढ़वाल के पारंपरिक लोक पर्व इगास को सरकारी अवकाश घोषित किया जाए ताकि सभी जन लोकपर्व को उल्लास पूर्वक मना सकें। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में उत्तराखंड की सांस्कृतिक धरोहर, हमारे त्योहारों की परंपरा धीरे-धीरे पाश्चात्य संस्कृति के बढ़ते प्रभाव के कारण कम होती प्रतीत हो रही है। राज्य सरकार को चाहिए कि हमारी धार्मिक एवं सांस्कृतिक परंपराओं के उत्थान के लिए योजनाबद्ध तरीके से कार्य कर लुप्त होती परंपराओं को सहेजने की दिशा में जोड़ दिया जाए। उन्होंने गढ़वाल के लोगों की भावनाओं के अनुरूप अन्य पर्वों की भांति लोक पर्व इगास को एक दिवसीय सार्वजनिक तौर पर अवकाश घोषित करने की मांग की। इस अवसर पर अंतरराष्ट्रीय गढ़वाल महासभा के महामंत्री उत्तम सिंह असवाल, लोक ज्ञायक धूम सिंह रावत,रज्जी गुसाईं,कमल जोशी ,मयंक भट्ट, अंकित नैथानी, सतेंद्र चौहान,दिनेश सिंह असवाल, गणेश बिजलवान उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most view news

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: